पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • सतगुरु नानक प्रगट होया मिटी धुंध जग चानन होया

सतगुरु नानक प्रगट होया मिटी धुंध जग चानन होया

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुपर्व पर निकाली स्वच्छता रैली

गुरु पर्व पर शब्द कीर्तन

सतगुरुनानक प्रगट होया मिटी धुंध जग चानन होया, कल तारन गुरुनानक आया, मिटया अंधेरा चन चढ़ आया, संता दे कारज आप खलोया आदि शब्द कीर्तन के माध्यम से रागी जत्थों ने गरु की बाणी का गुणगान किया। मौका था गुरु नानकदेव के प्रकाश दिवस के उपलक्ष्य में मेन बाजार स्थित गुरुद्वारा सिंह सभा में सजाए गए दीवान का।

अमृतसर के रागी जत्था भाई निखैर सिंह, भाई बलजीत सिंह रागी जत्था भाई मंगत सिंह रागी ने शब्द कीर्तन प्रस्तुत किए। लुधियाना के कथावाचक भाई नछतर सिंह ने गुरमत विचार साझे किए तथा गुरुओं के इतिहास के बारे में बताया। आयोजित दीवान में विधायक बलवान दौलतपुरिया, पूर्व मुख्य संसदीय सचिव प्रह्लाद सिंह गिलांखेडा, एडीसी यश गर्ग ने विशेष रुप से उपस्थित थे। गुरुद्वारा सिंह सभा प्रबंधक कमेटी प्रधान हरचरण सिंह, सचिव महेंद्र सिंह वधवा, कुलवंत सिंह जोहल, अजीत सिंह सचदेवा, महेंद्र सिंह ग्रोवर, एसएस मल्होत्रा, हरपाल सिंह, गुरशरण मोंगा, राणा जोहल, ज्ञान सिंह, अजमेर सिंह, मुलखराज चावला, विनोद सोनी, एनके सेठी, यश तनेजा, विकास मेहता, दयासिंह, टीएस मल्होत्रा, दर्शन रावल, जोगिंद्र सिंह विर्क, परमजीत सिंह, केपी सिंह उपस्थित थे।

भूना| गुरुद्वारासिंह सभा भूना में गुरुनानक देव का प्रकाशोत्सव मनाया गया। अमृतसर के पंथक ढाड़ी जत्था ज्ञानी कुलबीर सिंह बीर ने की टीम ने पहली पातशाही गुरुनानक की वाणी सुनाई। इंसान को सबसे पहला काम परमेश्वर का नाम जपना चाहिए क्योंकि इंसान को परमेश्वर के नाम का जाप करने के लिए जन्म मिला है। परमेश्वर के नाम के जाप से मन को शांति मिलती है। सभा के सदस्य हरिंद्र सिंह, बलजीत सिंह, अवतार सिंह, जोगिंद्र सिंह, बाबा महेंद्र सिंह, सिंगारा सिंह, जोरा सिंह, गुरबचन सिंह, दरबारा सिंह, कुलदीप सिंह फौजी, बलविंद्र सिंह, परमजीत सिंह कैरो, मेवा सिंह, सुखदेव सिंह सुखा, गुरप्रीत सिंह, सुरजीत सिंह धनोआ, रणजीत सिंह काका, जसबीर सिंह तूर, बलविंद्र सिंह कैरो आदि ने सेवाएं दी।

जाखल| जाखलमंडी के कलंगीधर गुरुद्वारा साहिब के अलावा जाखल रेलवे गुरुद्वारा सहित खंड के गांव जाखल, तलवाड़ा, साधनवास, चांदपुरा, मुंदलिया, म्योंद कलां सहित दर्जन भर गांवों में सिखों के प्रथम गुरु गुरुनानक देव जन्मोत्सव मनाया गया। गुरुद्वारा के सेवादार बाबा प्रदीप सिंह अकल