पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • गेहूं सीजन की तैयारियों में जुटा प्रशासन

गेहूं सीजन की तैयारियों में जुटा प्रशासन

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
खरीद केंद्रों पर नहीं होगी किसानों को समस्या

भास्करन्यूज | फतेहाबाद

गेहूंका सीजन शुरू हाेने में अभी एक महीना बाकी है। लेकिन गेहूं खरीद के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने के लिए जिला प्रशासन अभी से गंभीर हो गया है। शु़क्रवार को इस संबंध में जिले के डीसी एनके सोलंकी ने अपने कार्यालय में गेहूं खरीद से जुड़े सभी महकमों के अधिकारियों की मीटिंग ली और उनको निर्देश दिए कि वे अभी से गेहूं खरीद और किसानों को फसल का भुगतान सरकार की हिदायतों नुसार कराने के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित करें।

जिला में गेहूं खरीद के लिए चार दर्जन से भी अधिक मंडी खरीद केंद्र स्थापित किए गए हैं। सभी मंडियों खरीद केंद्रों पर पक्का फड़, बिजली, पानी, झारना, लेबर और तिरपाल की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। सभी मंडियों खरीद केंद्रों के प्रवेश द्वारों पर एक बोर्ड लगाएं जिसमें गेहूं का भाव, खरीद एजेंसी का नाम मानक आदि की जानकारी अंकित हो। जिला स्तर पर कंट्रोल रूम भी स्थापित किया जाए। गेहूं भराई के लिए उचित संख्या में बारदाने की व्यवस्था की जाए।

इसबार एफसीआई नहीं करेगी गेहूं खरीद

मीटिंगमें डीएफएससी दिलबाग सिंह दून ने बताया कि खरीद कार्य में हैफेड, एग्रो, वेयर हाउसिंग कॉरपोरेशन के अलावा फूड एंड सप्लाई विभाग को लगाया गया है। इस बार एफसीआई गेहूं की खरीद नहीं करेगी। गेहूं भंडारण के लिए स्थान की कोई कमी नहीं है और बारदाना का स्टाक भी पूरा है। किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने बताया कि मंडी से उठान के बाद कांटे तक वजन घटने की जिम्मेदारी संबंधित आढ़ती की होगी।

मंडी में किसी भी आढ़ती का माल साफ सुथरा नहीं पाया गया तो उसका लाइसेंस भी रद्द कर दिया जाएगा। उन्होंने किसानों से आग्रह किया है कि वे अपनी फसल को अच्छी प्रकार से सुखाकर साफ करके ही लाएं और नमी की मात्रा 12 प्रतिशत से अधिक नहीं होनी चाहिए। मीटिंग में डीएफएसओ दिलबाग सिंह, हरियाणा एग्रो के डीएम प्रीतम सिंह, हैफेड के राजेश कुमार, वेयर हाउसिंग के एमएल वर्मा, मार्केट कमेटी के सचिव विकास सेतिया, एसओ सुभाष चावला सहित अन्य अधिकारी भी थे।

गेहूं खरीद से जुडें अधिकारियों की बैठक को संबोधित करते हुए डीसी एनके सोलंकी।

डीसी ने कहा कि जिले में इस बार करीब 8 लाख एमटी गेहूं आवक की संभावना है। गेहूं खरीद के लिए 4 खरीद एजेंसियों को लगाया गया है और इन एजेंसियों को दिन मंडियां निर्धारित की गई हैं। सभी खरीद एजेंसियां निर्धारित दिनों पर अपनी खरीद का कार्य करेंगी। खरीद एजेंसियों के पास नमी मापने का यंत्र होना चाहिए ताकि तुरंत गेहूं में नमी की मात्रा का पता चल सके और खरीद का कार्य तेजी से हो सके। एजेंसियां खरीदे गए गेहूं का उठान भी सुनिश्चित करें ताकि मंडियों में दूसरे किसान भी अपनी फसल बेचने के लिए ला सकें।