पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • चोरी कर आरोपियों ने तोड़ दिया था सिम कार्ड

चोरी कर आरोपियों ने तोड़ दिया था सिम कार्ड

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सुरंगबनाकर लॉकर तोड़ने की योजना को अंजाम देने वाले आरोपी कोई भी सुराग नहीं छोड़ना चाहते थे। जिसके आधार पर पुलिस उन तक पहुंच पाए। आरोपियों ने जिस मोबाइल सिम का प्रयोग किया था, घटना के बाद इस सिम को तोड़ दिया था। ये सिम दिल्ली निवासी रोहित ने उपलब्ध कराए थे। पुलिस द्वारा मामले में गिरफ्तार आरोपी रोहित, प्रवीण सोनू ने इसका खुलासा किया। तीनों आरोपियों को पुलिस ने गुरुवार को कोर्ट में पेश किया, कोर्ट ने रोहित को जेल भेज दिया, जबकि प्रवीण सोनू को सात दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया।

मामले की जांच डीएसपी गोहाना राजीव देशवाल के नेतृत्व में डीएसपी खरखौदा अजीत सिंह, थाना शहर गोहाना प्रभारी सतेंद्र कुमार, एसआईटी सोनीपत प्रभारी रतन सिंह, सीआईए सोनीपत, एसआईटी गोहाना सत्यवान सिंह और सदर थाना गोहाना प्रभारी कुलदीप देशवाल की टीमें कार्य कर रही है। पुलिस ने बुधवार को प्रवीण, सोनू और रोहित को गिरफ्तार किया था। पुलिस का कहना है कि आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। जांच में कुछ जानकारियां मिली है, जिसकी जांच की जा रही है।

गुरुवारको भी जारी रहा धरना: पीएनबीशाखा के सामने लॉकर धारक गुरुवार को भी धरने पर बैठे रहे। धरने के कारण बैंक का कामकाज होने के कारण इस शाखा के उपभोक्ताओं को परेशानी झेलनी पड़ रही है। पहले उपभोक्ता मुख्य शाखा और बाद में विश्वकर्मा चौक पर स्थित ब्रांच पर पहुंचता है। धरने पर बैठे लॉकर धारक अपनी मांग पर अडिग है। उनका कहना है कि जब तक उनका सामान वापस मिल जाता और उनके नुकसान की भरपाई नहीं हो पाती। तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा।

राजेशगिरफ्त से बाहर : इसमामले में वांछित आरोपी राजेश को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई है। मामले का खुलासा करने के साथ जिन चार आरोपियों का नाम सामने आया था, उसमें राजेश का नाम शामिल था। परंतु राजेश पुलिस की गिरफ्त में आने से पहले ही फरार हो गया। पुलिस राजेश की गिरफ्तारी के लिए उसके मिलने के सभी संभावित ठिकानों पर दबिश तो दे रही है, लेकिन पुलिस को सफलता नहीं मिली है।

गोहाना. पीएनबीके बाहर धरने पर बैठे हुए पीड़ित लॉकर धारक।

गोहाना. सुरंगबनाकर लॉकर तोड़ने के मामले में गिरफ्तार आरोपी।