पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • परीक्षा के दिन ही होगी उत्तर पुस्तिकाओं की जांच

परीक्षा के दिन ही होगी उत्तर पुस्तिकाओं की जांच

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दसवींतथा बाहरवीं की बोर्ड परीक्षाओं के परीणाम के लिए छात्रों को लंबे समय का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। शिक्षा विभाग ने परीक्षाओं का परिणाम शीघ्र तैयार करने के लिए उत्तर पुस्तिकाओं की जांच परीक्षा के दिन ही कराने का निर्णय लिया है। इसके लिए शिक्षा विभाग द्वारा उत्तर पुस्तिकाओं की जांच करने के लिए अतिरिक्त अध्यापकों की ड्यूटी भी लगाई जाएगी।

बोर्ड की परीक्षाओं के बाद छात्रों को लंबे समय तक इंतजार करना पड़ता था। वहीं विभिन्न कोर्स में दाखिला लेने के लिए इच्छुक विद्यार्थियों की परेशानी बढ़ जाती है। क्योंकि एडमिशन के बाद कागजात की जांच करानी होती है, ऐसे में रिजल्ट होने के कारण दाखिला लेने से वंचित रह जाते थे। वहीं माइग्रेशन भी कराना होता है। छात्रों की समस्या का समाधान करने के लिए बोर्ड द्वारा इस वर्ष से नया प्रयोग करने जा रहा है। जिसके अंतर्गत परीक्षा होने के बाद उसी दिन मार्किंग का कार्य शुरू करा दिया जाए।

जिससे उत्तर पुस्तिका जांचने का कार्य जल्द से जल्द हो सके। उल्लेखनीय है कि हरियाणा बोर्ड की परीक्षाएं चार मार्च से शुरू हो रही हैं। परीक्षा को लेकर छात्रों में तनाव है। सभी छात्र अच्छे नंबरों के साथ परीक्षा पास करना चाहते हैं। ताकि उनका दाखिला मनमाफिक कोर्स में हो सके।

^ बोर्ड परीक्षा परिणाम शीघ्र तैयार करने के लिए उत्तर पुस्तिकाओं की जांच का कार्य परीक्षा के दिन किया जाएगा। इसके लिए अतिरिक्त टीचरों की ड्यूटी लगाई जाएगी। जिससे योजना को बेहतर ढंग से लागू किया जा सके। वहीं विभाग द्वारा बोर्ड परीक्षा को नकल रहित संपन्न कराने के लिए जिला और ब्लाक स्तर पर उड़नदस्ते गठित किए जाएंगे। वहीं बच्चों को भी नकल करने के लिए प्रेरित किया गया है। \\\'\\\' परमेश्वरीदेवी, , डीईओ सोनीपत

शिक्षा विभाग द्वारा बोर्ड परीक्षाओं को नकल रहित संपन्न कराने के लिए तैयारियां की जा रही है। जहां बोर्ड स्तर पर टीमों द्वारा परीक्षा केंद्रों का निरंतर निरीक्षण किया जाएगा। वहीं जिला स्तर पर भी अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। विभाग का कहना है कि परीक्षाओं को नकल रहित संपन्न कराने के लिए हरसंभव प्रयास किया जा रहा है। ब्लॉक स्तर पर उड़न दस्तों में एसडीएम, बीईओ तथा अन्य शिक्षा अधिकारी शामिल होंगे। केंद्र पर भी सुरक्षा बढ़ाई जाएगी।

आमतौर पर बोर्ड और विवि पर पेपर जांच कार्य में धांधली होने के आरोप लगते रहते हैं। विभाग का कहना है कि यदि उसी दिन पेपर की मार्किंग कराने का कार्य करा दिया जाए तो इस तरह के आरोपों पर पूर्ण रूप से अंकुश लग जाएगा। उल्लेखनीय है कि परीक्षा होने के बाद उत्तरपुस्तिकाओं को अन्य जिलों में भेज दी जाती है। सेंटरों पर उत्तरपुस्तिका की जांच के बाद फिर से एकत्रित किया जाता है। इस व्यवस्था पर खर्च अधिक होता है।