• Hindi News
  • National
  • हाईवे जाम करने जा रहीं महिलाओं को पुलिस ने रोका

हाईवे जाम करने जा रहीं महिलाओं को पुलिस ने रोका

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भंडेरीकी छात्रा के अपहरण मामले में मुख्य आरोपी विक्रम की गिरफ्तारी और छात्रा को जिंदा या मुर्दा बरामद करने की मांग को लेकर सोमवार को हाई-वे के पास विभिन्न सामाजिक संगठन, खाप और गांवों के लोगों ने दो घंटे का धरना दिया।

धरने की अध्यक्षता कथूरा बारहा प्रधान भलेराम नरवाल ने की। बाद में धरने को लेकर बनाई गई 31 सदस्यीय कमेटी ने प्रशासन को दोनों मांगें पूरी करने के लिए चार दिन का अल्टीमेटम दिया। मांगें पूरी होने पर सोमवार को लघु सचिवालय में फिर से धरना दिया जाएगा। कमेटी के इस निर्णय को महिला संगठन की सदस्यों ने मानने से इंकार कर दिया और हाई-वे जाम करने के लिए जाने लगी। हाई-वे पर तैनात पुलिस जवानों ने उन्हें हाई-वे पर जाने से रोक दिया। जिस पर महिलाओं ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ शहर में जुलूस निकाला। धरना सुबह 11 बजे शुरू हुआ। धरने को लेकर कमेटी की तरफ से पहले ही प्रशासन को ज्ञापन दिया हुआ है। इसलिए धरना शुरू होने से पहले ही प्रशासन द्वारा हाई-वे पर गोहाना मोड़ पर पुलिस बल तैनात किया गया था। थाना शहर, सदर बरोदा प्रभारी, नायब तहसीलदार मोहन लाल की ड्यूटी लगाई गई थी। धरने पर बैठे लोगों को एसडीएम अजय कुमार ने जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार किए जाने का आश्वासन दिया। जिसके बाद कमेटी के सदस्यों ने आगामी रणनीति तैयार करने के लिए मीटिंग की और निर्णय लिया कि प्रशासन यदि चार दिन में मांगें पूरी नहीं करता है तो सोमवार को लघु सचिवालय में धरना दिया जाएगा।

धरना समाप्त होने के बाद महिलाओं और कुछ ग्रामीणों ने कमेटी के निर्णय को मानने से मना कर दिया और एकत्रित होकर हाई-वे जाम करने का निर्णय लिया। जब वे हाई-वे की तरफ जाने लगी तो वहां पर तैनात पुलिस ने उन्हें वहां जाने से रोक दिया। इसे लेकर महिलाओं की पुलिस कर्मियों के साथ बहस भी नहीं हुई। परंतु पुलिस ने उन्हें हाई-वे पर जाने से मना कर दिया। पुलिस अधिकारियों ने महिलाओं को समझाया और वापस भेजा। समता मूलक महिला संगठन की अध्यक्ष सुनीता त्यागी ने कहा कि प्रशासन को एक बार नहीं बल्कि कई बार समय दिया जा चुका है। परंतु पुलिस द्वारा तो आरोपी को गिरफ्तार कर रही है और ही छात्रा को बरामद कर रही है। मामले में पुलिस गंभीर नहीं है।

गोहाना .हाई-वे पर जाने से रोकने पर पुलिस जवानों से बहस करती हुई महिलाएं।

खबरें और भी हैं...