पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • बाजार रहे बंद, डॉक्टरों ने भी की हड़ताल

बाजार रहे बंद, डॉक्टरों ने भी की हड़ताल

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
व्यापारीकी हत्या के विरोध में बुधवार रात को जहां अस्पताल में हंगामा, मारपीट हुई, वहीं सुबह धरने प्रदर्शन हड़ताल से जनजीवन अस्त व्यस्त रहा। इसकी वजह से बाजार सुनसान रहे तो सामान्य अस्पताल की ओपीडी ठप रही। गोली मारने की घटना से क्षुब्ध शहर के व्यापारियों ने शहर थाने के बाहर रोष प्रदर्शन किया।

सामानमिला इलाज

डिफेंसकाॅलोनी निवासी करीब 46 वर्षीय दर्शनलाल अनेजा उर्फ पिंकी की स्कीम नंबर छह स्थित पिंकी प्रोविजनल स्टोर पर बुधवार देर रात को गोली मारकर हत्या किए जाने के विरोध में गुरुवार को शहर के व्यापारियों ने बाजार बंद रखा। व्यापारी सुबह ही सिटी थाने के बाहर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते रहे। उन्होंने हत्यारों को जल्द पकड़ने, लापरवाह डाॅक्टरों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग को लेकर हंगामा किया।

बाद में मौके पर पहुंचे एसपी, एडीसी एसडीएम के आश्वासन के बाद लोग शांत हुए। प्रशासन से बातचीत के लिए 11 सदस्यीय कमेटी व्यापारियों ने बनाई। बाजार बंद रहने से जहां खरीदारी करने आए ग्राहकों को सामान नहीं मिल पाया, वहीं सामान्य अस्पताल में आए मरीजों को डाॅक्टरों की हड़ताल की वजह से इलाज नहीं हो पाया। सभी ओपीडी बंद रही। डीसी के आदेश के बावजूद सिर्फ आपातकालीन सेवाएं ही चलाई गई। ऐसे में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

(संबंधितखबरपेज 15 पर )

डाॅक्टरों के साथ मारपीट उनके हड़ताल पर जाने की सूचना पाकर स्वास्थ्य विभाग के डाॅ. आदित्य चौधरी, निदेशक स्वास्थ्य सेवाएं हरियाणा डाॅ. सेठी, निदेशक (डेंटल) स्वास्थ्य सेवाएं हरियाणा सामान्य अस्पताल पहुंचे। यहां उन्होंने सिविल सर्जन समेत अन्य चिकित्सकों से भी घटना बारे विस्तृत जानकारी ली।

सिविल सर्जन के कपड़े फाड़े, चिकित्सकों को भी धुना गोलीकांड के बाद अस्पताल में डाॅक्टर मिलने पर व्यापारियों ने हंगामा किया। हालांकि कुछ देर बाद ही वहां पर डॉक्टर पहुंच गया और उसने गंभीर व्यापारी की फर्स्ट एड शुरू कर दी थी। वहीं, इसी बीच गुस्साए लोग सिविल सर्जन डाॅ. रवीन्द्र पूनिया की कोठी पर पहुंचे और उसे नींद से उठाकर इमरजेंसी कक्ष में ले आए। आरोप है कि इस दौरान कुछ लोगों ने सिविल सर्जन समेत तीन-चार डाॅक्टरों के साथ मारपीट की। सिविल सर्जन के तो कपड़े तक फाड़ डाले।

अस्पतालमें तैनात रहे एसपी और डीएसपी

हत्याके बाद हुए विवाद को लेकर डाॅक्टरों के हड़ता