• Hindi News
  • Haryana
  • Pehowa
  • आजादी के बाद संस्कृत में लिखे जा चुके 90 महाकाव्य : डॉ. सोमेश्वर दत्त
--Advertisement--

आजादी के बाद संस्कृत में लिखे जा चुके 90 महाकाव्य : डॉ. सोमेश्वर दत्त

Pehowa News - पिहोवा| संस्कृतदिवस के उपलक्ष्य में डीएवी कॉलेज में एक दिवसीय संस्कृत दिवस समारोह किया गया। इसमें हरियाणा...

Dainik Bhaskar

Aug 05, 2017, 03:05 AM IST
आजादी के बाद संस्कृत में लिखे जा चुके 90 महाकाव्य : डॉ. सोमेश्वर दत्त
पिहोवा| संस्कृतदिवस के उपलक्ष्य में डीएवी कॉलेज में एक दिवसीय संस्कृत दिवस समारोह किया गया। इसमें हरियाणा संस्कृत अकादमी पंचकूला के निदेशक डॉ. सोमेश्वर दत्त बतौर मुख्यातिथि पहुंचे। डॉ. दत्त ने कहा कि संस्कृत मां भाषा है और इसकी किसी अन्य भाषा से प्रतिस्पर्धा नहीं है। उन्होंने कहा कि सरस्वती और संस्कृत का अनूठा संगम इसी प्रदेश में है। 1947 के बाद संस्कृत भाषा में 90 महाकाव्य लिखे जा चुके हैं। जबकि 1901 से अब तक संस्कृत की 3500 रचनाएं लाइब्रेरी में उपलब्ध हैं। इसके अलावा इंग्लैंड में संस्कृत कॉलेजों का संचालन किया जा रहा है। प्रिंसिपल डॉ. कामदेव झा ने वर्ष के संस्कृत विद्वान के रूप में डॉ. सोमेश्वर दत्त का चयन कर सम्मानित किया। मंच का संचालन प्रो. अजय मोहन ने किया। इस मौके पर डॉ. गुरप्रीत कौर, दीपमाला, गगनदीप कौर, मनदीप कौर मांगे राम कौशिक सहित कई लोग मौजूद रहे।

X
आजादी के बाद संस्कृत में लिखे जा चुके 90 महाकाव्य : डॉ. सोमेश्वर दत्त
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..