पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • अरुणाय से माथा टेककर पिंजौर लौट रहे परिवार के वाहन ट्रक से टकराए, दो की मौत

अरुणाय से माथा टेककर पिंजौर लौट रहे परिवार के वाहन ट्रक से टकराए, दो की मौत

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कुरुक्षेत्र. शाहाबाद | आठ महीने पहले शादी के बंधन में बंधे वरुण शिखा को यह मालूम नहीं था कि पिहोवा में उनका अंतिम बिछौड़ा हो रहा है। अरुणाय मंदिर में दर्शनों के बाद अरोड़ा परिवार ने अपनी बहू शिखा को तोशाम की बस में बिठा दिया और पूरा परिवार वाया कुरुक्षेत्र वापस पिंजोर की ओर चल पड़ा।
शाहाबाद के पास हुई दुर्घटना में वरुण की मौके पर ही मौत हो गई। दुर्घटना के बाद इलाज के लिए अस्पताल में पहुंचे केवल कृष्ण अरोड़ा की आंखें अपने जवान पोते को देखने के लिए तरस रही थी। गंभीर रूप से घायल उसकी पोती नितिका को जब इलाज के लिए पीजीआई ले जाया जा रहा था तो नौगजा पीर के पास ही उसने भी दम तोड़ दिया।
पिहोवा में हुआ पति-पत्नी का अंतिम बिछौड़ा

शाहाबाद-पिपलीजीटीरोड पर गुरुवार दोपहर सड़क दुर्घटना में एक ही परिवार के दो युवाओं की मौत हो गई, वहीं छह सदस्य गंभीर रूप से घायल हो गए। हेल्पर्स की टीम ने तीन एंबुलेंस में घायलों को पीजीआई चंडीगढ़ में दाखिल कराया। वहीं मृतकों को अपने शव वाहन में एलएनजेपी भेज दिया। पिंजोर निवासी केवल कृष्ण अरोड़ा अपने परिवार सहित दो कारों में पिंजोर से अरुणाय मंदिर पिहोवा में दर्शनों के लिए गए थे।

अरुणाय मंदिर में पूजा के बाद दोपहर लगभग साढ़े 12 बजे अरोड़ा परिवार कुरुक्षेत्र के रास्ते पिंजोर के लिए निकला। दोपहर लगभग डेढ़ बजे जब अरोड़ा परिवार शाहाबाद के नजदीक गांव खानपुर जाटान के पास पहुंचा तो उनकी कार के आगे चल रहे ट्रक ने अचानक ब्रेक लगा दी। इससे कार ट्रक के नीचे घुस गई।
इसी कार के पीछे रही अरोड़ा परिवार की दूसरी कार भी अगली कार से जा टकराई। तीनों वाहनों की टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि दोनों कारों में सवार आठ लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को हेल्पर्स सोसाइटी की टीम ने इलाज के लिए स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने नितिका वरुण को मृत घोषित कर दिया। गंभीर रूप से घायल केके अरोड़ा, रजनीश, कनिका, राजीव, चिराग और प्रियंका को पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया।

घटना की सूचना मिलते ही डीएसपी दलीप कुमार और थाना प्रभारी मनोज कुमार भी मौके पर पहुंचे और क्षतिग्रस्त वाहनों को सड़क से हटवाकर यातायात सुचारु कराया।