पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • ईशरगढ़ के पास बनने के कुछ दिन बाद ही गड्ढों में बदली सड़क

ईशरगढ़ के पास बनने के कुछ दिन बाद ही गड्ढों में बदली सड़क

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ईशरगढ़-बाबैन रोड के निर्माण में प्रयोग की गई घटिया सामग्री बारे बताते ग्रामीण।

पिपली | नेशनलहाइवे पर ईशरगढ़ मोड़ से लेकर बाबैन तक बनी सड़क तैयार होते ही गड्ढों में तबदील होने लगी है। पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों की नाक तले नियमों को ताक पर रखकर घटिया निर्माण सामग्री की लीपा-पोती की गई। वहीं सड़क निर्माण में नियम कायदे सभी को दरकिनार किया गया।

सड़क की दशा को देखकर विभाग और ठेकेदार की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे हैं। गौरतलब है कि कांग्रेस सरकार के समय इस सड़क के लिए टेंडर एक ठेकेदार को दिया गया था। लेकिन ठेकेदार ने मात्र खानापूर्ती ही की। ग्रामीण पूर्व सरपंच रामलाल, रोशन अली, कुलवंत पुनिया, हरनेक सैनी, सरपंच दीपक मोरथला,ओंकार सैनी, राजेंद्र सैनी, निर्मल सिंह का आरोप है। ठेकेदार सड़क का निर्माण करने में सरकारी मापदंडों को पूरा नहीं कर रहा है। ठेकेदार ने रातों- रात सड़क बनाकर खानापूर्ति कर दी है। उसने तो सरकारी मापदंडों के अनुसार सड़क बनाई और ही सही मात्रा में निर्माण सामग्री डाली है, जिस कारण सड़क से बजरी उखड़ने लगी है। इस बारे में सड़क बनाने वाले ठेकेदार से जानकारी लेनी चाही तो उनसे संपर्क नहीं हो सका।

सड़कपर मिट्टी अधिक गटका कम : ग्रामीणोंका आरोप है कि ठेकेदार द्वारा सड़क पर केवल एक ही लेयर डाली गई है। जबकि विभाग के नियमानुसार सड़क पर दो लेयर यानि छह इंच गटका गिराया जाना जरूरी था। ग्रामीणों ने कहा कि इस सड़क पर देखने से साफ पता चलता है कि सड़क पर गटका कम और मिट्टी अधिक गिराई गई है। हालांकि जिन स्थानों पर सड़क में गड्ढे पड़ गए हैं उन पर विभाग बजरी डालकर लीपा-पोती करने का भी प्रयास कर रहा है।

जांचमें कमी मिली तो होगी कार्रवाई : पीडब्ल्यूडीविभाग के एक्सईएन संजीव अग्रवाल का कहना है कि सड़क का निर्माण कराते समय किसी प्रकार की लापरवाही सहन नहीं की जाएगी। सड़क में गड्ढे होने की बात पर बोले हमने जांच कर ली है गड्ढे नहीं हैं। फिर भी यदि गड्ढे पाए गए तो फिर उनकी जांच कराकर दुरुस्त कराया जाएगा। इसके लिए वो पूरी साइट का खुद जायजा लेंगे।

सड़कनिर्माण की होगी पूरी जांच : लाडवाके विधायक डॉ. पवन सैनी ने कहा कि सड़क निर्माण में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। यदि संबंधित ठेकेदार या अधिकारियों ने सड़क निर्माण में नियमानुसार सही सामग्री नहीं डाली तो उसकी जांच क