• नौ दिन बाद रेलवे से मिली परमिशन नीचे से निकाली जाएगी केबल तार

नौ दिन बाद रेलवे से मिली परमिशन नीचे से निकाली जाएगी केबल तार / नौ दिन बाद रेलवे से मिली परमिशन नीचे से निकाली जाएगी केबल तार

Samalkha News - रेलवेने बिजली निगम को नौ दिन बाद रेलवे ट्रैक से बिजली लाइन गुजारने की परमिशन दी है। अब निगम लाइन को ऊपर की बजाय नीचे...

Jun 23, 2016, 03:35 AM IST
रेलवेने बिजली निगम को नौ दिन बाद रेलवे ट्रैक से बिजली लाइन गुजारने की परमिशन दी है। अब निगम लाइन को ऊपर की बजाय नीचे से लेकर जाएगा ताकि दोबारा से ऐसी कोई घटना हो सके।

निगम अधिकारियों का कहना है कि गुरुवार से ही ट्रैक के नीचे से केबल तार निकालने को लेकर बोरिंग का काम शुरू करा दिया जाएगा। समालखा सब डिविजन के अंतर्गत आने वाले 33 केवीए नारायणा पावर हाउस में सिवाह स्थित बीबीएमबी से सप्लाई आती है। जो दिवाना समालखा रेलवे स्टेशन के बीच रेलवे लाइन को भी क्राॅस करती है। 13 जून को शाम के समय बारिश आंधी के दौरान रेलवे लाइन के दोनों तरफ निगम द्वारा लाइन क्राॅसिंग को लेकर लगाए गए टावर टूटकर गिर जाने के कारण पावर हाउस की सप्लाई लाइन की तार रेलवे की लाइन पर आकर गिर गई थी। जिससे करीब दो घंटे तक दिल्ली अम्बाला अप डाउन ट्रैक पर यातायात प्रभावित हुआ था। अगले दिन टावर खड़े कर निगम अधिकारियों ने लाइन चालू करने को लेकर रेलवे से परमिशन मांगी तो रेलवे ने परमिशन देने से इनकार कर दिया था। जिस कारण करीब तीन दिन तक पावर हाउस से जुड़े सात गांव नारायणा, नामुंडा, ग्वालड़ा, ढिंढार, ढोडपुर. मनाना में बिजली सप्लाई ठप रही थी और बाद में अधिकारियों ने दूसरी जगह से सप्लाई जोड़कर किसी तरह पावर हाउस को चालू किया हुआ है।

परमिशन को काटने पड़े चक्कर

दोबारासे लाइन खड़ी करने को लेकर रेलवे द्वारा निगम को परमिशन देने से इनकार करने के बाद निगम अधिकारियों के पसीने छूटे हुए थे। एसडीओ आशीष दहिया ने बताया कि रेलवे ने उनको परमिशन दे दी है। परंतु वो इस बार ऊपर की बजाय रेलवे ट्रैक के नीचे से बोरिंग करके केबल तार दबाएंगे। उन्होंने बताया कि गुरुवार से बोरिंग का काम शुरू करा दिया जाएगा। जिसको पूरा होने में कई दिन लग जाएंगे।

13 जून को पावर हाउस की सप्लाई लाइन की तार रेलवे की लाइन पर गिर गई थी

करीब दो घंटे तक दिल्ली अम्बाला अप डाउन ट्रैक पर यातायात बाधित था

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना