पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • नेत्र रोगों के इलाज की नई तकनीक और शोध पर विशेषज्ञों ने की चर्चा

नेत्र रोगों के इलाज की नई तकनीक और शोध पर विशेषज्ञों ने की चर्चा

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिरसा-फतेहाबादप्थोमोलोजिकल सोसायटी की ओर से ओप्था फेस्ट 2017 का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में देश के विभिन्न हिस्सों से 100 से अधिक सुपर स्पेशलिस्ट नेत्र रोग विशेषज्ञों ने शिरकत की और आंखों के उपचार में नवीनतम शोध कार्यों तथा संभावनाओं पर चर्चा की। हरियाणा आप्थोमोलोजिकल सोसायटी के सहयोग से आयोजित कार्यक्रम के सचिव डॉ. महीप बंसल ने बताया कि यह नेत्र रोग के डाक्टरों तथा नेत्र रोगियों के लिए एक ऐतिहासिक कार्यक्रम है। इसमें विश्व भर में उपलब्ध आधुनिकतम तकनीक के साथ-साथ नए उपकरणों, दवाओं और शोध कार्यों पर विस्तृत चर्चा करने का अवसर मिला है। कार्यक्रम में कर्नाटक के उडूपी से आए डॉॅ. केपी कुंडलू ने नेत्र रोग की नई तकनीक पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि अब 40 साल से अधिक उम्र के लोगों का चश्मा उतारने की विधि उपलब्ध हो गई है। उन्होंने कहा कि अब तक केवल 18-20 वर्ष की उम्र तक ही लेसिक लेजर के माध्यम से चश्मा उतारने की तकनीक उपलब्ध थी। सुपर स्पेशलिस्ट डाक्टरों ने मौके पर ही जानवरों की आंखों पर नई तकनीक के प्रयोग करके दिखाए गए। हरियाणा आप्थोमोलोजिकल सोसायटी के सचिव डॉ. नरेंद्र तनेजा ने कहा कि यह समय की जरूरत है

आयोजन समिति के प्रधान डॉ. प्रवीन अरोड़ा ने नेत्र रोग के बारे में आधुनिकतम अध्ययन करने का अवसर प्रदान करने के लिए आभार व्यक्त किया। आईएमए के प्रदेश संरक्षक डॉ. वेद बैनीवाल ने कहा कि डाक्टरों को प्रतिदिन नए शोध कार्यों से परिचित होना चाहिए। आईएमए सिरसा के प्रधान डॉ. केके गोयल सचिव डॉ. जीएस गुप्ता ने इसे सिरसा आईएमए के लिए भी गौरव का विषय बताया। कार्यक्रम में पीजीआई रोहतक के साइंटिफिक कमेटी के चेयरमैन डॉ. राजेंद्र चौहान, पीजीआई रोहतक से डॉ. सुमित सचदेवा, जिंदल अस्पताल हिसार से डॉ. आदर्श शर्मा, डॉ. प्रवीण मोंगा, लुधियाना से डॉ. साहिल गोयल, डॉ. दिनेश गर्ग, करनाल से डॉ. नेहा खंदूजा, डॉ. संजीव अरोड़ा, पीजीआई चंडीगढ़ से डॉ. एसएस पांडव, दिल्ली से डॉ. नौशिर श्राफ, डॉ. रंजन दत्ता, अंबाला से डॉ. अमित गुप्ता, दिल्ली से डॉ. अजय अरोड़ा उपस्थित थे।

सिरसा।ओप्था फेस्ट 2017 में भाग लेने पहुंचे नेत्र रोग चिकित्सक।

खबरें और भी हैं...