पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • अधर में लटके मंडी में बनने वाले शौचालय

अधर में लटके मंडी में बनने वाले शौचालय

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रेलवेऑवरब्रिज के नीचे बनी सब्जीमंडी की हालत इन दिनों दयनीय हो गई है। मंडी में सफाई व्यवस्था चरमराई हुई है। हर तरफ गंदगी के अंबार लगे हुए हैं और कूड़े की ढेरियों से मंडी में बदबू का आलम बना हुआ है। मंडी में सब्जी विक्रेताओं की सुविधा के लिए बनाए जा रहे शौचालयों का निर्माण भी वहां स्थित संजीवनी अस्पताल के संचालक ने रुकवा दिया है। सब्जी मंडी के प्रधान महेंद्र सिंह, प्रताप सिंह, रामअवतार, टोनी, छोटू, देसराज, श्याम बिहारी, जस्सी, राजू, मंगा सिंह, कालीभगत का कहना है कि उन्हें प्रतिदिन अनेक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ग्राहकों को भी शौचालय नहीं होने से अनेक समस्याओं से दो-चार होना पड़ता है। मंडी में रेहड़ी सब्जी की दुकान लगाने वालों ने बताया कि वे मंडी की सफाई व्यवस्था शौचालयों की समस्या को हल करवाने के लिए अनेक बार अधिकारियों से मिल चुके हैं, लेकिन उनकी किसी ने नहीं सुनी। हर बार कोरे आश्वासन देकर ही उन्हें टाल दिया गया।

नगरपरिषद ने मौके पर पहुंचकर रुकवाया था काम

रेलवेपुल के नीचे बनी सब्जी मंडी में ग्राहकों दुकानदारों के बार- बार अधिकारियों से गुहार लगाने पर शौचालय निर्माण का कार्य शुरू कर दिया गया था। जब कार्य आधा पूरा हो गया तो वहीं स्थित संजीवनी अस्पताल के संचालक को यहां शौचालय निर्माण करवाना गवारा नहीं लगा। जिसकी उसने शिकायत कर दी। जिसके चलते नगरपरिषद की टीम ने मौके पर पहुंचकर कार्य बीच में ही रोक दिया शौचालय बनाने के लिए मंगवाई गई ईंटें भी 6 माह से वहीं पर एक कोने में पड़ी हुई हैं और सब्जी विक्रेता शौचालय बनने की बाट जोह रहे हैं। आए दिन लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

डीसीसे लगा चुके हैं गुहार

सब्जीफल विक्रेताओं ने बताया कि सब्जी मंडी की दुर्दशा को लेकर वे कई बार डीसी से गुहार लगा चुके हैं। उन्होंने कहा कि डीसी से मार्क होकर उनका ज्ञापन नगरपरिषद पहुंच जाता था और नगरपरिषद के अधिकारी उस पर गौर नहीं फरमाते थे।

नगरपरिषद के अधिकारियों से मिलकर उन्होंने शौचालय बनाने की अनुमति ले ली थी। रेहड़ी संचालकों ने अपने निजी कोष से पैसे एकत्रित करके एक बार शौचालय निर्माण का कार्य जेई ईओ द्वारा निर्धारित की गई जगह पर शुरू करवाया था, मगर उन्हीं अधिकारियों ने चलते काम को फिर से रोक दिया।

निर्माण को लेकर शिकायत मिली है

^संजीवनीअस्पताल के संचालक ने डीसी को शिकायत देकर इन शौचालयों का निर्माण रुकवाया है। अस्पताल संचालक ने मरीजों को दिक्कते आने की शिकायत की थी। अभी वे उसके आसपास कोई दूसरी जगह देख रहे हैं। जहां जल्द ही शौचालयों का निर्माण करवाया जाएगा और सफाई व्यवस्था पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा।’’ बीएनभारती, नगरपरिषद् के कार्यकारी अधिकारी