• Hindi News
  • National
  • तोशाम मंडी में बाजरे की खरीद शुरू नहीं होने से किसान मायूस : लांबा

तोशाम मंडी में बाजरे की खरीद शुरू नहीं होने से किसान मायूस : लांबा

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बाजरेकी खरीद का जायजा लेने के लिए इनेलो के जिला प्रधान सुनील लांबा ने अनाज मंडी का दौरा किया। मंडी में खरीद एजेंसी नहीं मिली और लांबा ने सरकार को किसान विरोधी बताया। लांबा ने बताया कि सरकार द्वारा एक अक्टूबर से बाजरे की खरीद करने के लिए घोषणा की गई थी लेकिन 7 अक्टूबर तक तोशाम की अनाज मंडी में कोई भी खरीद एजेंसी नहीं पहुंच रही है। खरीद एजेंसी के बिना किसानों का बाजरा कैसे खरीदा जा सकता है। लांबा ने कहा जब मंडी में पहुंचे तो कई किसान बाजरा बेचने के लिए मंडी में आए हुए थे। मंडी में बाजरे के खरीद नहीं होने के कारण किसानों को वापस लौटना पड़ रहा है।

लांबा ने कहा कि किसानों से बात कि तो बताया कि बाजरे का सरकारी भाव 1425 रुपये प्रति क्विंटल है जबकि मंडी में खरीद नहीं होने के कारण उन्हें गांव में 11 सौ रुपये के हिसाब से बाजरा बेचना पड़ रहा है। जिसके कारण किसानों को काफी नुकसान हो रहा है। लांबा ने कहा कि हाल ही में किसान की कपास की फसल बीमारी के कारण खराब हो गई। जिसकी सरकार ने आज तक कोई गिरदावरी नहीं करवाई है। लांबा ने कहा कि सरकार किसान के प्रति गंभीर नहीं है। सरकार को किसानों की समस्याओं को गंभीरता से लेना चाहिए। इस अवसर पर कुलदीप, संदीप दुहन, सुखबीर संडवा आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...