पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • भाव 1330 रुपए लेकिन 1200 रुपए प्रति क्विंटल बेचने को मजबूर किसान

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भाव 1330 रुपए लेकिन 1200 रुपए प्रति क्विंटल बेचने को मजबूर किसान

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
किसानोंको इन दिनों अपनी बाजरे की फसल सरकारी भाव से भी कम दाम में बेचनी पड़ रही है। सरकार द्वारा बाजरे की फसल का भाव तो 1330 रुपए प्रति क्विंटल तय किया हुआ है। लेकिन यहां पर खरीद एजेंसी नहीं है। सरकारी खरीद एजेंसी नहीं होने से किसानों की फसल सरकारी भाव से भी कम भाव में बिक रही है। इन दिनों मंडी में बाजरे की बंपर फसल रही है। सरकारी एजेंसी द्वारा खरीद करने के कारण फसल की व्यापारी खरीद कर रहे हैं। किसानों को इन दिनों जो भाव मिल रहे है वो 1200 रुपए प्रति क्विंटल के आस-पास मिल रहे हैं। किसानों ने मांग की कि यहां पर सरकारी एजेंसी बाजरा की खरीद के लिए अलॉट की जाए ताकि किसान अपनी फसल को सरकारी भाव पर बेच सके। प्रति क्विंटल किसानों की फसल सरकारी भाव से कम बिक रही है।

किसान जयबीर, रामदिया, जोगिंद्र ने कहा कि सरकारी भाव जो फसल का है, किसानों को कम से कम उतना तो मिलना चाहिए। सरकारी एजेंसी यहां पर खरीद नहीं कर रही है ऐसे में जो भाव किसानों को खुली बोली पर मिलते हैं ंउसी भाव में अपनी फसल को बेच रहे है। भाव कभी 1150 रुपए तो कभी 1200 रुपए तक मिल जाते है। सरकारी रेट 1330 रुपए प्रति क्विंटल तय किया हुआ है। सरकारी एजेंसी होने से किसानों को अपनी फसल औने-पौने भाव पर बेचनी पड़ रही है।

मंडी नहीं हुई है अभी अलॉट

^बीतेसाल यहां पर एग्रो ने बाजरे की खरीद की थी। एग्रो के एमडी से बातचीत की तो उन्होंने कहा कि अब तक मंडी एग्रो द्वारा अलॉट नहीं की गई है। किस एजेंसी की खरीद कौन सी मंडी में होगी यह मंडी अलॉट करने के बाद पता चलता है। जहां तक बाजरा की प्राइवेट बोली की बात है बाजरा की फसल की हर ढेरी खुली बोली पर बिक रही है। सरकार का भाव 1330 रुपए प्रति क्विंटल है। खुली बोली पर कई भाव 1400 रुपए के आस-पास तक पहुंचे हैं। -जोगिंद्रसिंह, सचिव, मार्केट कमेटी उचाना।

सरकारी एजेंसी खरीद करें

^मंडीमें बाजरा की फसल को सरकारी एजेंसी खरीदें ताकि जो भाव सरकार द्वारा तय किए हुए है कम से कम उतने तो किसानों को मिले। सरकार जब बाजरा का भाव तय करें तो उसी समय एजेंसी भी अधिकृत करें ताकि मंडियों में फसल सरकारी रेट पर बिक सके। -सूबेसिंह, किसान दुर्जनपुर।

सरकारी रेट से कम भाव

^बीतेकुछ दिनों से जो भाव फसल के मिल रहे हैं वो सरकारी भाव से काफी कम है। सरकारी एजेंसी अगर बाजरा खरीदें तो भाव किसानों को कम से कम सरकारी तो मिलेंगे। बाजरा की फसल कई दिनों से मंडी में रही है। -संदीप, किसान थुआ।

उचाना. पुरानीमंडी में आई बाजरे की फसल को दिखाते हुए किसान। फोटो| भास्कर

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति पूर्णतः अनुकूल है। बातचीत के माध्यम से आप अपने काम निकलवाने में सक्षम रहेंगे। अपनी किसी कमजोरी पर भी उसे हासिल करने में सक्षम रहेंगे। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और...

    और पढ़ें