• Hindi News
  • National
  • पुलिस नहीं अब समुदाय संपर्क समूह करेगा छोटे मोटे विवादों का निपटारा

पुलिस नहीं अब समुदाय संपर्क समूह करेगा छोटे-मोटे विवादों का निपटारा

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिसनहींअब छोटे विवादों का निपटान समुदाय संपर्क समूह (सीएलजी) करेगा। पुलिस मुलाजिमों के खिलाफ आने वाली शिकायतों की जांच भी समूह के सदस्य ही करेंगे। एसपी राजेश कालिया ने ऐसे चार समूह गठित किए हैं। इन समूहों के सदस्य हर रोज लघु सचिवालय में शिकायतों की सुनवाई करेंगे। इसके बाद मामले की रिपोर्ट सीधे नोडल अधिकारी को दी जाएगी। इसके लिए डीएसपी हेडक्वार्टर को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। जबकि समूह की कमान सुशील आर्य को सौंपी गई है।

बढ़तीशिकायतें के बाद लिया फैसला : पिछलेकाफी समय से पुलिस के पास घरेलू, मारपीट, जमीनी विवाद पैसे के लेनदेन की शिकायतें लगातार रही हैं। इन शिकायतों को निपटाने के लिए पुलिस पर भी लगातार दबाव बढ़ रहा है। जिसकी वजह से गंभीर मामलों की जांच प्रभावित हो रही है। इसी वजह से संपर्क समुदाय समूह गठित करने का निर्णय लिया गया। ताकि पुलिस की बजाय समूह सदस्य ही ऐसी शिकायतों का निपटान कर दें। इस सिलसिले में डीएसपी हेड क्वार्टर अर्शदीप सिंह की अगुवाई में हुई मीटिंग में ये समूह गठित किए गए।

रूम नंबर-301 हुआ अलाॅट : विवादोंके नियमित निपटान के लिए समूह सदस्य लघु सचिवालय के तीसरे फ्लोर पर बने रूम नंबर-301 में सुनवाई करेंगे। सभी सदस्यों के रूम में बैठने का दिन भी तय कर दिया गया है। किस तरह ये सदस्य विवादों की सुनवाई करेंगे। इसके लिए उन्हें पूरी जानकारी दी जाएगी। वे मामले भी आग्रह पर समूह को दिए जाएंगे जिसमें पुलिस जांच शुरू कर चुकी है।

आर्य को बनाया समूह इंचार्ज : गठितसमुदाय संपर्क समूह का इंचार्ज सुशील आर्य को बनाया है। भारतभूषण शर्मा समूह में महासचिव होंगे। रिटायर्ड पुलिस ऑफिसर जोगिंद्र सिंह कानूनी सलाहकार होंगे। नरेश कुमार को भी सदस्य बनाया है। पुरुषोत्तम पुरुथी कैलाश चंद अग्रवाल डॉ. गेंदाराम, भूषण कुमार , जरनैल सिंह बलविंद्र संयोजक होंगे। हमीदा के थानेदार के नाम से मशहूर सुरेंद्र मदान , संदीप जैन , अमरजीत सिंह, विजय, दर्शन, राजेंद्र , डॉ. ईश चड्‌ढा , कुंदनलाल , नरेंद्र, जोगिंद्र, मोनिका भगवान सिंह भी सदस्य बनाए गए हैं।

^गैर संज्ञेय विवादों के निपटान के लिए समुदाय संपर्क समूह गठित किए गए हैं। इन समूहों के जरिए पुलिस पर बढ़ रहे दबाव को कम करने कोशिश हो रही है। समूह के सभी सदस्यों को जांच के दौरान क्या करना है। इसकी उन्हें पूरी जानकारी दी गई है। उम्मीद है कि ये फॉर्मूला कारगर साबित होगा।

अर्शदीपसिंह, डीएसपी हेडक्वार्टर, यमुनानगर

भास्कर का रहूंगा ऋणी : मदान

समुदायसंपर्क समूह के सदस्य नियुक्त होने पर हमीदा के सुरेंद्र मदान ने भास्कर का आभार जताया है। उन्होंने कहा कि इसके लिए जब उन्हें पुलिस मुख्यालय से फोन आया तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। मदान ने कहा कि अगर भास्कर उनकी पहचान उजागर करता तो शायद पुलिस अधिकारियों को उनके द्वारा किए काम का कभी पता चलता।

पहल

यमुनानगर |जानकारी देते संपर्क समूह के सदस्य।

खबरें और भी हैं...