पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • धर्म गुरु किसी जाति या धर्म के नहीं होते

धर्म गुरु किसी जाति या धर्म के नहीं होते

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
धर्म गुरु किसी जाति या धर्म के नहीं होते

नारनौल|सीएल पब्लिकस्कूल नारनौल मे सिखों के प्रथम गुरु गुरुनानक देव के जन्मदिवस के अवसर पर गुरुपर्व मनाया गया। इस अवसर पर बच्चों ने सतनाम श्री वाहेगुरु का जाप किया। प्राचार्य भारत भूषण ने बताया धर्म गुरू किसी एक जाति या धर्म का नहीं होता है, बल्कि वह पूरे देश समाज का होता है। क्योंकि उसके गुणों कार्यों से पूरा समाज प्रभावित होता है। गुरुनानक देव सिखों के प्रथम गुरु थे। उन्होंने सिक्ख धर्म की स्थापना की। प्रबंध निदेशक डॉ. अमित गुप्ता ने कहा कि हम गुरुनानक देव जी द्वारा बताए गए संदेशों को अपने जीवन मे ग्रहण करें। उनके बताए गए मार्ग पर चलकर मानव मात्र की सेवा का संकल्प लें।

सीएल पब्लिक स्कूल के गुरुनानक देव प्रकाशोत्सव गुरुपर्व के रूप में मनाया।