धनखड़ खाप के अध्यक्ष बोले, दुष्कर्म के दोषियों की एक आंख निकालो, हाथ काट दो

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रोहतक. दिल्ली सामूहिक दुष्कर्म की घटना पर धनखड़ खाप के अध्यक्ष डॉ. ओमप्रकाश धनखड़ कड़ा रुख अपनाने के पक्ष में हैं।
उनका कहना है कि दुष्कर्म के दोषियों की एक आंख व एक हाथ निकाल कर जरूरतमंद को प्रत्यारोपित कर देने चाहिएं। डॉ. धनखड़ ने दैनिक भास्कर को बताया कि सार्वजनिक रूप से कड़ी सजा देने से इस प्रकार के अपराधों की प्रभावी रोकथाम संभव है।
उन्होंने इसे अपना व्यक्तिगत विचार बताया। उन्होंने कहा कि यदि दिल्ली गैंगरेप के आरोपियों की सुनवाई खाप पंचायतों को दी जाती है तो जल्दी और सही फैसला होगा। उन्होंने कहा कि दुष्कर्म के मामले में यदि लड़की का भी कोई दोष है तो यह सुनवाई में सामने लाया जाना चाहिए, इसलिए दिल्ली गैंग रेप के मामले की सुनवाई बंद कमरे में नहीं, सार्वजनिक होनी चाहिए।
बंद कमरे में सुनवाई होने से सच्चाई का पता नहीं चल सकता। गैंग रेप जैसे संगीन जुर्म में दोषियों को कड़ी सजा देने से समाज में डर पैदा होगा और इस प्रकार के कुकृत्य पर रोक लग सकेगी। उन्होंने कहा कि खाप पंचायतों ने कभी ऑनर किलिंग का समर्थन नहीं किया। यही पक्ष सुप्रीम कोर्ट में भी रखा जाएगा।