पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • The Death Of Pregnant, Nursing Homes, The Chaos

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गर्भवती की मौत, नर्सिग होम में हंगामा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बल्लभगढ़. अग्रसेन चौक के निकट स्थित एक निजी नर्सिग होम में शनिवार को एक गर्भवती महिला की मौत हो गई। इससे गुस्साए परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया। परिजनों का आरोप था कि डॉक्टरों की लापरवाही के चलते गर्भवती की मौत हुई है। नर्सिग होम संचालक ने हंगामे की सूचना पुलिस को दी। थाना शहर प्रभारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। उन्होंने परिजनों को समझाकर मामले की निष्पक्ष जांच करने का आश्वासन दिया। इसके बाद लोगों का गुस्सा शांत हुआ। पुलिस मामले की जांच कर रही है। क्या कहना है अस्पताल प्रबंधन का अस्पताल संचालक अशोक भाटिया का कहना है कि महिला की हालत को देखते हुए उन्होंने पहले ही उसके पति से उसे एम्स ले जाने के लिए कहा था, लेकिन वह लापरवाही करता रहा। इससे महिला ने दम तोड़ दिया। अस्पताल में जो सुविधाएं थीं वे महिला को दी गईं। इसमें कोई लापरवाही नहीं बरती गई। सुबह कराया था भर्ती गांव मलेरना निवासी रघुबीर ने पुलिस को बताया कि अग्रसेन चौक के पास स्थित भाटिया नर्सिंग होम में शनिवार सुबह करीब 10 बजे उन्होंने अपनी गर्भवती पत्नी फूलकुमारी को भर्ती कराया। वह 7 माह की गर्भवती थी। रघुबीर के अनुसार वह पत्नी को अस्पताल में लेकर आए। यहां उसकी जांच के बाद अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे भर्ती करने के लिए कहा। रघुबीर के अनुसार उन्होंने 2 हजार रुपए जमा कराकर पत्नी को भर्ती करा दिया। इसके कुछ देर बाद डाक्टरों ने रघुबीर को बताया कि फूलकुमारी का ऑपरेशन करना पड़ेगा। इसलिए और रुपए जमा कराने होंगे। इस पर रघुबीर ने गांव से और रुपए मंगा लिए। एम्स ले जाने को कहा था रघुबीर ने पुलिस को बताया कि दोपहर करीब एक बजे डॉक्टरों ने उनसे एंबुलेंस का इंतजाम करने के लिए कहा। डाक्टरों ने उनसे कहा कि फूलकुमारी की हालत ज्यादा खराब है उसे एम्स लेकर जाना पड़ेगा। रघुबीर के अनुसार वे एंबुलंेस का इंतजाम करने लगे। इसी बीच डाक्टरों ने उन्हें बताया कि फूलकुमारी की मौत हो गई है। रघुबीर के अनुसार इसकी जानकारी उन्होंने गांव को दी। वहां से बड़ी संख्या में लोग अस्पताल पहुंच गए और डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए नारेबाजी करने लगे। कुछ युवकों ने अस्पताल में तोड़फोड़ का भी प्रयास किया, लेकिन अन्य लोगों ने उन्हें समझाकर रोक लिया। अस्पताल प्रबंधन ने हंगामा बढ़ता देख थाना शहर पुलिस को सूचित कर दिया। सूचना पाकर थाना शहर प्रभारी सुदीप कुमार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। उन्होंने रघुबीर व ग्रामीणों से बातचीत कर उन्हें समझाया कि मामले की निष्पक्ष जांच कर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा। इसके बाद ग्रामीण शांत हो गए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

और पढ़ें