• Hindi News
  • रेप केस में फंसे पति के लिए ढाई साल पत्नी ने लड़ी लड़ाई, अब बाइज्जत बरी

रेप केस में फंसे पति के लिए ढाई साल पत्नी ने लड़ी लड़ाई, अब बाइज्जत बरी

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत। पत्नी का संघर्ष रेप के झूठे केस में फंसे पति को बाइज्जत बरी करा लाया। हालांकि पानीपत में होमगार्ड रहे बिजेंद्र को छह माह जेल में काटने पड़े। बिजेंद्र की पत्नी ने बताया कि हमें ब्लैकमेल कर दो बार पैसे वसूले। नहीं देने पर फंसाने की धमकी देती थी। हम एसपी बी सतीश बालन के पास गए। उन्हें सच्चाई बताई और तब जाकर पुलिस जांच में बिजेंद्र निर्दोष रहा। अारोप लगाने वाली महिला चलाती है ठगी का गैंग...
-आराेप लगाने वाली महिला लोगों को फंसाकर पैसे ऐंठने का गैंग चलाती है।
- आरोपी महिला ने बिजेंद्र पर 16 अक्टूबर 2013 को अपहरण कर दिल्ली ले जाने और दुष्कर्म करने के आरोप लगाए थे।
-इस आरोप में पुलिस ने बिजेंद्र को गिरफ्तार कर लिया था।
-जांच में पता चला कि आरोप लगाने वाली महिला की लोकेशन उस दिन दिल्ली सरोजनी नगर में थी।
-ऐसे में वह रोहतक आ ही नहीं सकती। इसके अलावा बिजेंद्र उस दिन अस्पताल में भर्ती था।
- आरोपी महिला पहले भी बिजेंद्र पर आरोप लगा चुकी है।
-शिकायत झूठी मिलने पर एफआईआर रद्द की गई व महिला के खिलाफ 182 की कार्रवाई की गई थी।
-सारे सबूत महिला के ही खिलाफ रहे और कोर्ट ने बिजेंद्र को बाइज्जत बरी कर दिया है।
एक महिला की जद्देजहद पढ़िए खुद पिंकी की जुबानी..
बिजेंद्र होमगार्ड में था। पानीपत के गांव कालखा में हमारी जिंदगी हंसी-खुशी बीत रही थी। सास-ससुर और दो बच्चे। बिजेंद्र के साथ सिटी थाना अंतर्गत ड्यूटी करने वाले युवक ने उस पर रेप का झूठा मामला दर्ज करा दिया। मुखीजा कॉलोनी में रहने वाले उस युवक का आरोप था कि बिजेंद्र ने उसकी पत्नी से दुष्कर्म किया है। बिजेंद्र ने उसे 50 हजार रुपए दिए थे, वापस मांगने पर उसने फंसा दिया। उसकी पत्नी भी सामने आई, हमसे पैसे मांगे। समाज का डर और कोर्ट-कचेहरी का चक्कर। तब हमने उसकी मांग पूरी कर दी।
कोर्ट ने 5 लाख मुआवजा देने का सुनाया आदेश
रोहतक की एडिशनल डिस्ट्रिक्ट जज सीमा सिंहल की अदालत ने बिजेंद्र को बरी करने के आदेश दिए। कोर्ट ने कहा, "पुलिस की सही जांच नहीं होने की वजह से एक निर्दोष काे 6 माह जेल में रहना पड़ा। अदालत में बार-बार सुनवाई के लिए आना पड़ा। समाज में बदनामी भी झेलनी पड़ी। इस वजह से सरकार बिजेंद्र को पांच लाख रुपए बतौर मुआवजा दे।
आगे की स्लाइड्स में देखें फोटो...