थाना प्रभारी की जिप्सी से घायल युवक की मौत, हंगामे के बाद पुलिसकर्मी गिरफ्तार

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
यमुनानगर. दो दिन पूर्व एसएचओ की जिप्सी की टक्कर से घायल दुर्गा गार्डन कॉलोनी निवासी रोहित की मंगलवार की रात नर्सिंग होम में मौत हो गई। पुलिस शव लेकर पोस्टमार्टम कराने सिविल अस्पताल में पहुंची, तो वहां पर लोगों ने परिजनों के साथ मिलकर पुलिस को घेर लिया। पुलिस के खिलाफ जमकर हंगामा हुआ। जिससे पुलिस के हाथ पैर फूल गए। इस मामले में दो दिन से चुप्पी साधे बैठे अधिकारी आनन फानन में भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। वहां पर पुलिस व हंगामा कर रहे परिजनों की तीखी नोक-झोक हुई।

परिजनों ने आरोप लगाया कि पुलिस की लापरवाही से रोहित की मौत हुई है और इस मामले में कोई कार्रवाई भी नहीं कर रही है। दुर्घटना के बाद रोहित वहीं सड़क पर पड़ा तड़पता रहा। जबकि पुलिस अपने साथी को लेकर चली गई। आरोप लगाया कि पुलिस ने केस भी अज्ञात के खिलाफ दर्ज किया। मृतक रोहित के भाई प्रवीण ने बताया कि मंगलवार को कार्रवाई की मांग को लेकर एसपी व डीसी से मिलने गए, तो वहां भी एक पुलिसकर्मी ने उनसे शिकायत लेकर वापस भेज दिया था। जिससे पुलिस के खिलाफ परिजनों में रोष बना हुआ था।

रोहित की मौत के बाद यह गुस्सा फूट पड़ा और पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी हुई। करीब तीन घंटे तक सिविल अस्पताल में हंगामा होता रहा। मौके पर डीएसपी राजेंद्र कुमार व तहसीलदार सुनील कुमार भी पहुंच गए।

उन्होंने हंगामा कर रहे परिजनों को समझाने की कोशिश की, लेकिन परिजन आरोपी पुलिसकर्मी सतबीर की गिरफ्तारी पर अड़ गए। डीएसपी ने आश्वासन भी दिया, लेकिन वह नहीं माने। बाद में हरकोफैड के चेयरमैन रामेश्वर चौहान मौके पर पहुंचे और उन्होंने परिजनों से बात कर उन्हें कार्रवाई कराने के लिए आश्वस्त किया। तब परिजन शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए राजी हुए। डीएसपी राजेंद्र कुमार ने बताया कि आरोपी पुलिसकर्मी को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। इसमें जो भी आगे कार्रवाई बनेगी, वह की जाएगी। वहीं परिजनों को भी नियमानुसार मुआवजा दिलवाया जाएगा।
खबरें और भी हैं...