रैपिड रेल से पानीपत-दिल्ली का सफर 45 मिनट में / रैपिड रेल से पानीपत-दिल्ली का सफर 45 मिनट में

पानीपत से दिल्ली तक का सफर अब केवल 45 मिनट में पूरा हो जाएगा। दरअसल, प्रस्तावित एलिवेटेड रैपिड रेल कॉरिडोर प्रोजेक्ट जल्द ही शुरू होने जा रहा है।

Jun 16, 2016, 04:50 AM IST
रैपिड रेल से पानीपत-दिल्ली का सफर 45  मिनट में
पानीपत. पानीपत से दिल्ली तक का सफर अब केवल 45 मिनट में पूरा हो जाएगा। दरअसल, प्रस्तावित एलिवेटेड रैपिड रेल कॉरिडोर प्रोजेक्ट जल्द ही शुरू होने जा रहा है। रैपिड रेल चलाने की घोषणा तो वर्ष 2013 में ही हो गई थी, लेकिन केंद्र और प्रदेश सरकार में तालमेल की कमी के कारण प्रोजेक्ट रुका था। बुधवार को नई दिल्ली में हुई एनसीआर प्लानिंग बोर्ड की 36वीं बैठक में प्रोजेक्ट का रास्ता साफ हो गया। बैठक में शहरी विकास एवं संसदीय मामलों के केन्द्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने सीएम मनोहर लाल से इस बारे में चर्चा की और काम जल्द शुरू करने के निर्देश दिए गए।
72000 करोड़ के प्रोजेक्ट का हिस्सा
यह कॉरिडोर एनसीआर से जुड़े 72000 करोड़ रुपए के आरआरटीएस का एक हिस्सा है। दिल्ली-पानीपत के अलावा दिल्ली-अलवर (180 किमी) और दिल्ली- मेरठ (90 किमी) रैपिड ट्रेन प्रोजेक्ट भी इसमें शामिल हैं। नई दिल्ली में हुई एनसीआर प्लानिंग बोर्ड की बैठक में इन सभी रूट पर जल्द काम शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। जिस राज्य में जितना लंबा ट्रैक, उसे उसी के मुताबिक पैसा देना होगा। विकास मंत्रालय एनसीआरपीबी को 2814 करोड़ रुपए, दिल्ली सरकार को 684 करोड़ और हरियाणा सरकार को 2129 करोड़ रुपए देने होंगे। 7502 करोड़ लोन, 5627 करोड़ पीपीपी से जुटाए जाएंगे। इस पर अनुमानित 130 करोड़ प्रति किलोमीटर खर्च आएगा।
पानीपत स्टेशन: असंध रोड पुलिस चौकी के पास बनेगा
रैपिड रेल की लाइन 111 किलोमीटर लंबी होगी, जिसमें 100.3 किलोमीटर का रास्ता जमीन पर 2.7 किलोमीटर एलिवेटेड होगा। दिल्ली में कश्मीरी गेट से शुरू होकर कॉरिडोर पानीपत में आईओसीएल रिफाइनरी कॉम्प्लैक्स समेत कुल 12 स्टेशन होंगे। पानीपत शहर का सिटी स्टेशन असंध रोड पुलिस चौकी के पास बनेगा। रैपिड ट्रेन दिल्ली व पानीपत के बीच कई औद्योगिक क्षेत्रों के अलावा महत्वपूर्ण संस्थानों को हाईस्पीड कनेक्टिविटी देगा। योजना के अनुसार कॉरिडोर पर हर दस मिनट में तीन कोच की एक ट्रेन मिलेगी।
स्टॉप लेकर चले तो 60 मिनट लगेंगे
एलिवेटेड रेपिड रेल स्टॉप के साथ इसे 60 मिनट का समय लगेगा। कश्मीरी गेट, कुंडली, सोनीपत, गन्नौर, समालखा, पानीपत रिफाइनरी लाइन को अगर बनाया जाता है तो इससे करीब 80 हजार करोड़ का फायदा होगा। कोच में रेल के मुकाबले ज्यादा लोग सफर कर सकेंगे। रैपिड ट्रेन के कोच 22 मीटर लंबे होंगे। रेल से उलट इसमें लगेज स्पेस भी होगा।
आगे की स्लाइड्स में इंन्फो के जरिए देखें कैसी होगी रैपिड मेट्रो
रैपिड रेल से पानीपत-दिल्ली का सफर 45  मिनट में
X
रैपिड रेल से पानीपत-दिल्ली का सफर 45  मिनट में
रैपिड रेल से पानीपत-दिल्ली का सफर 45  मिनट में

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना