जितेंद्र अहलावत और सुरेंद्र गर्ग अब 'आप' में

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

पानीपत. आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस को बड़ा झटका दिया है। मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और उनके सांसद बेटे दीपेंद्र हुड्डा के करीबी माने जाने वाले जिला परिषद के पूर्व चेयरमैन जितेंद्र अहलावत ने कांग्रेस का हाथ छोड़ 'आम आदमी पार्टीÓ की टोपी पहनकर झाड़ू उठा ली।

इसी तरह वार्ड-15 के पार्षद सुरेंद्र गर्ग भी कांग्रेस छोड़कर समर्थकों के साथ 'आप' में शामिल हो गए। सुरेंद्र गर्ग कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रेम सचदेवा के करीबी माने जाते हैं। पार्षद का चुनाव लडऩे के लिए उनका नामांकन सचदेवा ने करवाया था।

भैंसवाल गांव में प्रेसवार्ता में जितेंद्र अहलावत ने कहा कि हरियाणा के लोगों को भी उम्मीद है कि दिल्ली की तरफ यहां पर भी 'आप' भ्रष्टाचार को खत्म करेगी। उन्होंने कहा कि इस समय कांग्रेस में भ्रष्टाचार फैला है। लोगों की सुनवाई नहीं होती, इसलिए पार्टी का छोड़ा। पानीपत से चुनाव लडऩे की बात पर कहा, 'मैं कार्यकर्ताओं के साथ आम लोगों की सेवा करने के लिए 'आप' से जुड़ा हूं।

अगर पार्टी कहती है तो जरूर चुनावी मैदान में उतरूंगा।' इस मौके पर पार्टी के सदस्य जोगिंद्र जौरासी, जिला संयोजक सुनील कुमार, सतीश, शोएब आलम, हुकुम सिंह, जयप्रकाश गर्ग, डॉ. गौरव श्रीवास्तव, रणबीर मलिक, पूर्व सरपंच महेंद्र शर्मा, मनफूल सिंह, सुरेंद्र महाजन, जोगिंद्र रावल, ऋषिपाल रावल विजय कुमार मौजूद रहे।