पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Cried The Father's Death Son, Came Over The Eyes Of The Villagers

पिता की मौत पर ऐसा रोया बेटा, ग्रामीणों की भी भर आईं आखें

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

समालखा/पानीपत. जीटी रोड पर गुरुवार सुबह हादसे में एक वाहन चालक की जान चले जाने के बाद उसके किशोर पुत्र का करुण विलाप देख ग्रामीण भी रोने लगे। उधर, हादसा होने के काफी देर बाद भी पुलिस नहीं पहुंची तो ग्रामीणों का गुस्सा बेकाबू हो गया और उन्होंने पेड़ों की डाल काटकर जाम लगा दिया। इससे लगभग घंटे भर सैकड़ों वाहन चालक फंसे रहे।


खलीला मोड़ के पास हुआ यह हादसा इतना वीभत्स था कि जान गंवाने वाले टाटा मैजिक चालक का शव टुकड़े टुकड़े होकर सड़क से चिपक गया था। हादसे के चार घंटे बाद पहुंची पुलिस ने किसी तरह उन्हें समझा बुझा कर जाम खुलवाया।


घटना सुबह चार बजे की है। मछरौली गांव का रहने वाला बलबीर टाटा मैजिक में पानी की टंकियों को डालकर सिरसा के लिए निकला था। वह जैसे ही खलीला मोड़ के नजदीक पहुंचा तो पिछले पहिए में दिक्कत आ गई। वह पहिया ठीक करने लगा तभी दिल्ली से पानीपत की तरफ आ रहे किसी वाहन ने उसको कुचल दिया।

उसके बात तो कई वाहन शव को रौंदते हुए निकल गए। सवा सात बजे के करीब गांव के कुछ लोग खलीला मोड़ पर पहुंचे तो उन्होंने शव व टाटा मैजिक को देखकर शव की पहचान बलबीर के रूप में की। मृतक के बेटे अमित ने बताया कि सूचना के चार घंटे बाद आठ बजे पुलिस मौके पर पहुंची। इससे ग्रामीण भड़क गए और उन्होंने जाम लगा दिया।


हाईवे पर तीन कैंटर भिड़े, एक की गई जान
हाईवे पुलिस चौकी के सामने कैंटर के बंद हो जाने से उसके चालक भूपेंद्र ने पीछे आ रहे एक अन्य कैंटर चालक से स्टार्ट करने के लिए सहायता ली और टोचन कर लिया। इसी दौरान पीछे से तेज गति से आ रहे एक अन्य कैंटर ने टक्कर मार दी। इस हादसे में भूपेंद्र नीचे दब गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।