पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • कैसे बने जिला खुले में शौच मुक्त पांच दिन मास्टर ट्रेनर देंगे प्रशिक्षण

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कैसे बने जिला खुले में शौच-मुक्त पांच दिन मास्टर ट्रेनर देंगे प्रशिक्षण

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
उपायुक्तडाॅ. यश गर्ग ने कहा कि खुले में शौच मुक्त गांव बनाने के लिए पूरे समुदाय को जागरुक करने की जरूरत है। इसके लिए इन प्रशिक्षकों के अलावा पंचायत से ही कुछ लोगों को चयनित कर इस अभियान को तेजी से बढ़ाना होगा।

डाॅ. गर्ग सोमवार को स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत स्थानीय सतीश कॅालेज ऑफ एजुकेशन में समुदाय संचालित संपूर्ण स्वच्छता पर आयोजित 5 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। 16 सितंबर तक चलने वाली इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य खुले में शौच मुक्त ग्राम पंचायतों के लिए मास्टर ट्रेनरों को तैयार करना है, जो लोगों को खुले में शौच जाने के प्रति जागरूक कर सकें। कार्यशाला में सरपंचों, आंगनवाड़ी वर्करों, आशा वर्करों, ग्राम सचिवों, बीडीपीओ ने भाग लिया।

डीसी ने कहा कि 5 दिवसीय प्रशिक्षण के बाद ये मास्टर ट्रेनर जिलाभर में शौचालय निर्माण उसके प्रयोग के लिए लोगों को जागरुक करेंगे, ताकि हमारा जिला पूर्ण रुप से स्वच्छ शौच मुक्त बन सके। समुदाय संचालित संपूर्ण स्वच्छता के अन्तर्गत अच्छा कार्य करने वाली आशा वर्करों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, ग्राम प्रधानों एवं ग्राम विकास, ग्राम पंचायत अधिकारियों, एबीपीओज को चुना गया है। इस मौके पर वेदप्रकाश अग्रवाल सहित प्रशिक्षक अभियान से जुड़े प्रेरक कर्मचारी मौजूद रहे।

रेवाड़ी. स्वच्छभारत मिशन के तहत कार्यशाला में सरपंचों, आशा आंगनबाडी वर्करों को जानकारी देते डीसी डॉ. यश गर्ग।

140 लोगों का ग्रुप बनाकर दिया जाएगा प्रशिक्षण

एडीसीकैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए स्वर्ण जयंती स्वच्छता पुरस्कार योजना लागू की गई है। योजना के तहत प्रतिमाह प्रत्येक खंड से सबसे साफ, हरियालीयुक्त एवं खुले में शौच मुक्त एक ग्राम पंचायत को 1 लाख रुपए का नकद पुरस्कार दिया जाएगा। स्वच्छता विशेषज्ञ अजय सिन्हा ने प्रेरकों को जरूरी टिप्स देते हुए कहा कि जिस जिले में भी इस प्रकार का प्रशिक्षण दिया गया है, वह जिला खुले में शौच मुक्त हुआ है। अब रेवाड़ी जिला भी इस अभियान से जुड़ गया है। लोगों को चाहिए कि वे केवल सरकारी अनुदान पर निर्भर रहने की बजाए अपने स्वयं के खर्च से शौचालयों का निर्माण करवाएं और उनका प्रयोग करें। ऐसा प्रेरक प्रशिक्षण अभियान इस कार्यशाला में प्रदान किया जाएगा। जो महिलाएं पुरुष इस अभियान से जुड़े हैं, उन्हें 140 लोगों को ग्रुप बनाकर प्रशिक्षण दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें