पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सीएम आज आएंगे शहर, खफा भाजपा पार्षद भ्रष्टाचार व धीमे विकास का उठाएंगे मुद्दा

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रोहतक. प्रदेश में भाजपा सरकार ने एक हजार दिन पूरे कर लिए हैं। इन एक हजार दिन के कार्यकाल के बाद अब पहला दौरा सीएम मनोहर लाल ने रोहतक में रखा है। इससे पहले सीएम 4-5 अप्रैल को रोहतक में थे। इसके 106 दिन बाद सीएम शनिवार को दो दिवसीय दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान वे करीब 40 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे। साथ ही करीब साढ़े 10 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास भी करेंगे। 
 
- दूसरी ओर, अब तक के कार्यकाल में सीएम मनोहर लाल की ओर से की गई 155 घोषणाओं में से 50 प्रतिशत लंबित पड़ी हैं। ऐसे में जिला अधिकारियों के साथ सीएम मनोहरलाल बैठक कर इन पर भी प्रगति रिपोर्ट मांगेंगे।
- वहीं, जिले में अटके हुए विकास कार्यों, भ्रष्टाचार के मामलों में कार्रवाई न होने, बरसाती पानी की निकासी न होने, अतिक्रमण न हटाए जाने और बेसहारा गोवंश के लिए नंदीशाला व गो-गृह बनाने की धीमी रफ्तार और सेक्टरों में अटके विकास कार्य व इनहांसमेंट अादि मुद्दे जनता दरबार व भाजपा पार्षदों के साथ मीटिंग में उठेंगे। प्रशासन कुछ खफा पार्षदों को रोकने की भी तैयारी कर रहा है।
बिना पास नहीं होगी एंट्री
भाजपा पार्षदों को भी पार्टी में उनकी आस्था देखकर ही सीएम से मिलने का मौका दिया जाएगा। इसके लिए विशेष प्लान बना है। खासतौर से एंट्री पास बनाए गए हैं। इन एंट्री पास को लेकर ही नगर निगम के भाजपा पार्षदों को मिलने दिया जाएगा। इस बैठक में कुछ भाजपा पार्षदों की ओर से गोशाला का मिट्टी घोटाला, फर्नीचर घोटाला व राष्ट्रीय सकल लाभ परिवार योजना व राशन कार्ड, विभागों व निगमों में भ्रष्टाचार न थमने, अनुबंध आधार पर नौकरियों को लेकर कमीशनखोरी के मामले उजागर किए जाएंगे। वहीं, कई पार्षदों का कार्ड नहीं बनाया जा रहा।
 
भ्रष्टाचार के इन तीन मुद्दों को उठाने की तैयारी 
 फर्नीचर घोटाले में कार्रवाई अटकी : वर्ष 2014 में नगर निगम में फर्नीचर घोटाला सामने आया था। इस मामले में  सरकार के ढाई साल बीतने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की जा सकी है।
- मामले में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मेयर रेणु डाबला, सीनियर डिप्टी मेयर मंजू हुड्डा व डिप्टी मेयर अशोक भाटी समेत विभागीय कर्मचारियों पर तीन साल बाद कार्रवाई करने के आदेश दे दिए हैं, लेकिन अब तक कार्रवाई अटकी है।
 
निगम की गोशाला में मिट्टी भरत में गोलमाल  
 
-  नौकरियों में भाई-भतीजावाद : अनुबंध आधार पर भरी जाने वाली नौकरियों में भाई-भतीजावाद के आरोप लग रहे हैं। इसे लेकर कई बार संगठनों व राजनीतिक दलों द्वारा भी आवाज उठाई गई है। इसे लेकर भी सीएम के सामने मुद्दे उठाया जाएगा।
 
- जिले को स्ट्रे कैटल फ्री बनाने के लिए पहरावर में बनने वाली नगर निगम की पहली गोशाला का निर्माण चल रहा है, लेकिन इसके निर्माण के साथ ही इसमें मिट्टी भरत को लेकर 25 लाख रुपए का घोटाला सामने आ गया है।
- इसे करीब सात महीने से स्वयं अधिकारी ही दबाए बैठे हैं और जांच के नाम पर फाइलों को कार्यालयों में घुमाया जा रहा है। जीरो टोलरेंस की सरकार में इस तरह के मामलों को लेकर हर कोई चुप्पी साधे हैं।
 
3 काम जो अब तक अटके
स्ट्रीट वेंडर जोन की फाइल लंबित  
रेहड़ी व फड़ी वालों से होने वाले अतिक्रमण को दूर करने के लिए  7 स्ट्रीट वेंडर जोन बनाए जाने हैं, लेकिन फाइल दबी पड़ी है। इसके चलते जगह-जगह शहर में रेहड़ियां लगती हैं और जाम लगता है। 
 सॉलिड वेस्ट ट्रीटमेंट प्लांट ठप  
एक वर्ष पहले जुलाई महीने में ही सीएम मनोहर लाल जिले में ठोस कचरा प्रबंधन के लिए सॉलिड वेस्ट ट्रीटमेंट प्लांट का शुभारंभ करके गए थे, लेकिन यह ठप पड़ा है। 
 
जलभराव का हल नहीं निकला  
जिले में बरसाती पानी की निकासी को लेकर समस्या बनी हुई है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल जलभराव की समस्या की नियमित रूप से समीक्षा कर रहे हैं और इस कार्य की निगरानी के लिए जिला स्तर पर मंत्रियों की भी तैनाती की गई है। इसके बावजूद एक घंटे की बरसात में ही शहर में बाढ़ के हालात बन जाते हैं।
 
 
कल जनप्रतिनिधियों से मिलेंगे
- सीएम दूसरे दिन 23 जुलाई को सुबह 9 बजे विकास सदन में निगरानी समिति के सदस्यों के साथ बैठक लेकर आवश्यक जानकारी लेंगे। इस दौरान जनप्रतिनिधियों से भी मुलाकात की जाएगी।
 
दाखिलों में गड़बड़ी पर स्टूडेंट भी मांगेंगे जवाब
कॉलेजों में ऑनलाइन दाखिलों में आई दिक्कतों को लेकर भी स्टूडेंट्स संगठन एकजुट हो रहे हैं। उच्चतर शिक्षा विभाग की ओर से लेट फीस भी वसूली गई है। इसे लेकर शनिवार को इनसो, एसएफआई और एएमवीए के पदाधिकारी सीएम से मुलाकात कर अपनी समस्याओं को बताएंगे।
 
 
खबरें और भी हैं...