• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • धरना स्थलों से नेताओं को पत्र, मंत्रियों का हुक्का पानी बंद करने की चेतावनी

धरना स्थलों से नेताओं को पत्र, मंत्रियों का हुक्का-पानी बंद करने की चेतावनी

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लाडवा | राज्यमंत्री कृष्ण बेदी से पत्रकारों ने जब जाट आरक्षण के संबंध में सवाल पूछा तो वे तपाक से बोले-सांसद राजकुमार सैनी को फोन लगाऊं क्या? मंत्री लाडवा के इंदिरा गांधी नेशनल कॉलेज के कार्यक्रम में आए थे। इधर, गुड़गांव में इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सरकार एक तरफ जाट समुदाय को मना रही है दूसरी तरफ धरनों को उकसा रही है।

केंद्रीय इस्पात मंत्री बीरेंद्र सिंह ने जाट आरक्षण के मुद्दे पर कहा कि सिर्फ नौकरियों दाखिलों में नहीं, बल्कि दुनिया की दौलत में भी आरक्षण हो। बीरेंद्र जाट शिक्षण संस्थान में छोटूराम जयंती समारोह में शिरकत करने पहुंचे थे।

हिसार में जाट आरक्षण संघर्ष समिति के प्रदेश महासचिव महेन्द्र सिंह पूनिया ने कहा- अगर सरकार जाट आरक्षण आंदोलन की मांगों को लेकर दलाल लोगों से बात करेगी तो यशपाल मलिक गुट ऐसी किसी भी बातचीत में शामिल नहीं होगा। सरकार फिलहाल समिति के नाम पर ऐसे लोगों से बात कर रही है जोकि सरकार के पिट्ठू हैं।

राष्ट्रीय महासचिव अशोक बल्हारा ने मंच से घोषणा की कि फरवरी दंगों में मृतकों के परिजनों को नौकरी के लिए डिटेल मांग लिया है, लेकिन जब तक नौकरी नहीं चढ़ लेते, तब तक नौकरी को नहीं माना जाएगा। अब तक 17 ऐसे परिजनों की डिटेल चंडीगढ़ समिति द्वारा भेजी गई है।

उपद्रव के आरोप में सुनारिया जेल में बंद जगपाल की तबीयत बिगड़ने पर सोमवार दोपहर बाद पीजीआई लाया गया। बताया गया कि वह अनशन पर है। वहीं जेल अधीक्षक दयानंद मंदोला ने कहा कि जेल में कोई अनशन पर नहीं है। उधर, अब शहर के सेक्टर छह में धरने पर बैठी जाट जागृति सेना 31 जनवरी से भूख-हड़ताल शुरू करेगी।

जींद के गांव ईक्कस में कच्ची फसल काटकर धरने की जमीन तैयार की गई। गीली जमीन में ही बैठकर धरना देतीं महिलाएं।

फोटो: भास्कर

फतेहाबाद, सिरसा : पहलेदिन की अपेक्षा धरने पर कम हलचल दिखी।

पानीपत: उग्राखेड़ीमें पहले दिन जहां ग्रामीण धरने का विरोध कर रहे थे, वहीं दूसरे दिन धरनारत लोगों के लिए कढ़ाई चढ़ाकर खाने की व्यवस्था भी की।

हिसार: हिसार-दिल्लीहाईवे से रामायण रोड पर पुलिस अर्ध सैन्य बलों की टुकड़ियां अलर्ट रही। आंदोलन उग्र रूप धारण कर ले इसके लिए पुलिस ने रामायण रेलवे क्रासिंग के पास ही तंबू गाड़ दिया है।

भास्कर टीम | रोहतक, हिसार, कैथल, जींद

छहमांगों को लेकर अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति (यशपाल गुट) का धरना दूसरे दिन भी 18 जिलों में जारी रहा। धरना स्थलों पर रागिनी के जरिये जोश बढ़ाया गया। सुरक्षा के लिहाज से आईबी की ओर से जहां अलर्ट जारी कर दिया गया है।

सोमवार को जसिया धरनास्थल के मंच से फैसला लिया गया कि प्रदेश के सभी धरना स्थलों से स्थानीय नेताओं को समर्थन देने के लिए पत्र भेजे जाएंगे। पहला पत्र केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह को रोहतक में दिया गया है। जसिया से बीरेंद्र सिंह के अलावा पूर्व सीएम भूपेन्द्र हुड्डा, नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला, सांसद दीपेंद्र हुड्डा, सांसद दुष्यंत चौटाला, विधायक आनन्द सिंह दांगी, श्रीकृष्ण हुड्डा, इनेलो नेता सतीश नांदल भाजपा नेता बलराज कुंडू अठगामा को पत्र लिखा जाएगा। संघर्ष समिति के राष्ट्रीय महासचिव अशोक बल्हारा ने मंच से चेतावनी दी गई कि सरकार के मंत्रियों का भी इलाज किया जाएगा। एक बार आरक्षण आंदोलन से निपट लिया जाए, इसके बाद सरकार के किसी भी मंत्री संतरी का हुक्का-पानी तक बंद कर दिया जाएगा, क्योंकि इनकी ओर से कोई सहयोग नहीं किया जा रहा है। बसंत पंचमी पर आएंगे मलिक, होगी प्रतियोगिता समिति की ओर से जसिया धरनास्थल पर एक फरवरी को बसंत पंचमी को सर छोटूराम की जयंती मनाई जाएगी। इस दिन समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक आएंगे। छोटूराम किसान मसीहा विषय पर बच्चों की निबंध कविता की प्रतियोगिता करवाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...