पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Court Was Going To Be The Father, The Son Hashish Hidden In Slippers

अदालत में पेश होने जा रहा था पिता, बेटे ने चप्पल में छिपाकर दी चरस

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रोहतक. सुनारिया जेल से अदालत में बंदी पेश करते समय पुलिस सुरक्षा सवालों के घेरे में आ गई है। पेशी के दौरान टिटोली के एक युवक ने पिता को चप्पलों में छिपाकर चरस पहुंचा दी और सुरक्षा गार्द को भनक तक नहीं लगी। बाद में शक होने पर मामला पकड़ में आया।


टिटोली निवासी बलजीत सिंह आपराधिक मामले में तीन साल से जिला कारागार में बंद है। मंगलवार को पेशी के लिए पुलिस उसे लेकर अदालत पहुंची। पेशी के बाद जब पुलिस वापस जेल छोडऩे गई तो जेल से थोड़ी दूरी पर एक पुलिसकर्मी की नजर बलजीत की चप्पलों पर पड़ी, जो बदली हुई थी।

शक होने पर जांच की गई तो एक चप्पल की तली में 85 ग्राम चरस मिली। गार्द में तैनात ईएएसआई जगदेव ने शिवाजी कालोनी थाने में सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची और बलजीत को एनडीएस एक्ट के तहत गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ के दौरान उसने खुलासा किया कि चरस उसके बेटे संदीप ने अदालत में पेशी के दौरान चप्पल के अंदर छिपा कर दी और चप्पल बदल ली। बुधवार को जांच टीम ने पिता-पुत्र को एनडीपीएस एक्ट के तहत अदालत में पेश किया। पिता को न्यायिक हिरासत में सुनारिया जेल भेज दिया गया, जबकि बेटे को जमानत मिल गई।