पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Joining The Strike Had A Huge, 371 Rodvejkarmion Sword Hangs On

हड़ताल में शामिल होना पड़ा भारी, 371 रोडवेजकर्मियों पर लटकी तलवार

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रोहतक. राष्ट्रव्यापी हड़ताल में शामिल होना रोडवेज कर्मियों पर भारी पड़ सकता है। दो दिन गैर हाजिर रहने वाले तीन सौ से ज्यादा कर्मचारियों की न केवल गैर हाजिरी लगाई गई है, बल्कि डिपो प्रबंधन ने रिपोर्ट बनाकर परिवहन आयुक्त को भेज दी है। अब आयुक्त की रिपोर्ट पर प्रदेश सरकार हड़ताली कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई पर अंतिम फैसला लेगी।


हड़ताल के दूसरे दिन भी रोडवेज का चक्का जाम रहा। बुधवार सुबह से ही डिपो के गेट पर डेरा डालकर बैठे कर्मचारियों को समझाने के लिए एसडीएम जगदीश व जीएम जोगेंद्र सिंह पहुंचे, लेकिन कर्मचारी बस चलाने के लिए तैयार नहीं हुए। अम्बाला में हुई घटना को देखते हुए अधिकारियों ने भी ज्यादा जोर नहीं दिया।

इसके बाद पूरा दिन बस अड्डा सुनसान रहा। हड़ताल खत्म होने के बाद शाम को डिपो के अधिकारियों ने जांच पड़ताल की कि कौन कर्मचारी हड़ताल में ज्यादा सक्रिय रहा और कौन बस चलाने के लिए तैयार रहा। चाहे अम्बाला में एक कर्मचारी नेता की मौत के बाद विभाग ने बस नहीं चलाने का फैसला लिया।

छानबीन के बाद डिपो के कुल 1032 कर्मचारियों में से 371 की गैर हाजिरी लगा दी गई। डिपो महाप्रबंधक जोगेंद्र सिंह का कहना है कि हड़ताल में सक्रिय रहे कर्मचारियों की रिपोर्ट चंडीगढ़ परिवहन आयुक्त को भेज दी है।

आयुक्त पूरी रिपोर्ट प्रदेश सरकार को भेजेंगे। इसके बाद सरकार प्रदेश स्तर पर निर्णय लेगी कि कर्मचारियों के खिलाफ क्या कार्रवाई की जाए।