पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Were Arrested In Delhi, Was Treated For Leg Satte Prize Of One Million Ismaila

धरा गया दिल्ली में पैर का इलाज करवा रहा एक लाख का इनामी सत्ते इस्माइला

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रोहतक. एक लाख के इनामी बदमाश संतकुमार उर्फ सत्ते इस्माइला को स्पेशल स्टाफ की टीम ने उस समय दबोच लिया, जब वह दिल्ली में एम्स में पैर का उपचार करवाकर बाहर आने लगा। रविवार को उसे अदालत में पेश किया गया, जहां से न्यायिक हिरासत में सुनारिया जेल भेज दिया गया।


एसपी विवेक शर्मा ने बताया कि एक लाख के इनामी बदमाश संतकुमार उर्फ सत्ते के पैर में दो साल पहले गोली लगी। उस समय तो गोली निकाल दी गई, लेकिन छर्रे का टुकड़ा पैर में रह गया। इसके कारण दोबारा पैर में दर्द रहने लगा। देर रात सूचना मिली कि इसका उपचार करवाने के लिए संतकुमार एम्स में आ रहा है।

एसआई आजाद सिंह के नेतृत्व में पुलिस की एक टीम दिल्ली पहुंची और अस्पताल से बाहर आ रहे संतकुमार उर्फ सत्ते को दबोच लिया। रविवार को उसे अदालत में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया।

कौन है संतकुमार उर्फ सत्ते
एसआई आजाद सिंह ने बताया कि इस्माइला-11बी के 35 वर्षीय संतकुमार उर्फ सत्ते का आपराधिक रिकार्ड 14 साल पुराना है। सबसे पहले 1999 में बहादुरगढ़ थाने में मामला दर्ज हुआ। इसके बाद तीन मार्च को सांपला थाने में मारपीट का केस दर्ज किया गया। 2002 में पुरानी रंजिश के चलते इस्माइला निवासी महेंद्र की हत्या कर दी गई।

इसमें संतकुमार को आजीवन कारावास की सजा हुई। जेल से पैरोल पर आने के बाद वह वापस नहीं लौटा। 2009 में संतकुमार के खिलाफ सिविल लाइन थाने में जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज किया गया।

इस साल अप्रैल माह में गांव के सरपंच सत्ते की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इससे संतकुमार पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया। उस पर रोहतक पुलिस ने एक लाख का इनाम रखा हुआ था।