पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • दो बड़े मामलों के बाद अब ~39 लाख की धोखाधड़ी का नया मामला उजागर

दो बड़े मामलों के बाद अब ~39 लाख की धोखाधड़ी का नया मामला उजागर

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सेक्टर-23में कमेटी के नाम पर करोड़ों रुपए के घोटाले की परत धीरे-धीरे खुल रही है। वहीं बात सोनीपत की जांच की करें तो जांच केस दर्ज करने के बाद पूरी तरह से सुस्त है। पुलिस तो किसी आरोपी को पकड़ पाई है और ही कोई ठोस सबूत जुटा पाई है।

फिर चाहे मामला पुरखास के दंपति उसकी बेटी द्वारा कमेटी के बिजनेस में घाटे से परेशान होकर आत्महत्या करने का हो या फिर एयर फोर्स के रिटायर्ड अधिकारी अजीत से करीब 58 लाख रुपए एेंठने का। इन दोनों मामलों की जांच में किरकिरी झेल रही सिटी थाना पुलिस की उस समय धड़कने और तेज हो गई जब महलाना रोड अशोक विहार की एक महिला ने सेक्टर-23 के तीन लोगों पर कमेटी के नाम पर 39 लाख 62 हजार रुपए ठगने का आरोप लगा दिया। पुलिस ने मामले में तीनों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया है। तीन आरोपियों में इस बार भी मुख्य आरोपी एक महिला ही है। पुलिस ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। जल्दी ही सच्चाई का पता किया जाएगा।

राजबाला प|ी भरतवीर निवासी अशोक विहार ने सिटी थाना पुलिस को शिकायत देकर बताया कि एक साल छह माह पहले कमेटी के नाम पर उससे रानी, उसके पति राजबीर बेटे चिराग ने करीब 39 लाख 66 हजार रुपए लिए थे। इसके बाद वह लगातार आरोपियों के पास अपने पैसे मांगने के लिए जा रही है, परंतु हर बार उसे पैसे देने का आश्वासन देकर वापिस लौटा दिया गया।

परंतु अब एक दिन जब वह आरोपियों के पास पैसे मांगने गई तो आरोपियों ने पैसे देने से मना किया और जान से मारने की धमकी दी। पुलिस ने शिकायतकर्ता राजबाला के बयान दर्ज कर आरोपी रानी, राजबीर चिराग के खिलाफ धोखाधड़ी जान से मारने की धमकी का केस दर्ज कर लिया है।

सूत्रों ने बताया कि सेक्टर-23 में चिट फंड का जो घोटला हुआ है। वह कोलकत्ता के शारदा चिट फंड की तरह ही है। परंतु सोनीपत पुलिस मामले की गंभीरता पर आंखें बंद किए हुए है। केस दर्ज करने के बाद जांच के नाम पर अभी तक पुलिस के पास कोई सबूत नहीं है, जिससे आरोपियों तक पहुंचा जा सके और ठगी की नगदी पीडितों को वापिस मिल सके। जबकि हर माह 40 से 50 लाख का नया मामला सामने रहा है।

एयर फोर्स से रिटायर्ड सेक्टर-23 निवासी अजीत ने बताया कि उसके करीब 58 लाख रुपए बाला नाम की महिला ने ठग लिए हैं। मामले में केस भी दर्ज है। परंतु पुलिस मामले की निष्पक्ष जांच करने के बजाए उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रही है। रोहतक आर्थिक अपराध शाखा में आईओ के सामने आरोपी महिला के भाई ने उसे धमकी दी। इसके साथ आईओ ने उसे कहा कि जिस महिला पर वह धोखाधड़ी का आरोप लगा रहा है वह उस पर कोई भी आरोप लगा सकती है। अजीत ने कहा कि वह पुलिस के पास बड़ी आस लेकर गया था, परंतु जिस तरह से जांच की जा रही है उसे देखकर लग नहीं रहा है कि उसे न्याय मिलेगा। आरोपियों से उसके परिवार को खतरा है। बाला का भाई भी उसे लगातार धमकी दे रहा है।

^सेक्टर-23 की एक महिला उसके पति पुत्र पर अशोक विहार की एक महिला ने चिट फंड अर्थात कमेटी के नाम पर 39 लाख 66 हजार रुपए ठगने का आरोप लगाया है। जिस के आधार पर तीनों पर केस दर्ज कर लिया गया है। जल्दी ही मामले के सबूत जुटाकर कार्रवाई की जाएगी।\\\'\\\'नरसिंह, सिटीथाना प्रभारी