पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • छुट्टी का नोटिस दिया नहीं, सैकड़ों मरीज हुए परेशान, गए वापस

छुट्टी का नोटिस दिया नहीं, सैकड़ों मरीज हुए परेशान, गए वापस

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्वसीएम हुकुम सिंह का देहांत होने पर शुक्रवार सरकारी अवकाश के कारण स्वास्थ्य सुविधाओं से जिले के मरीज महरूम रहे। मरीजों की परेशानी अस्पताल प्रबंधक की चूक से और बढ़ गई।

अस्पताल में छुट्टी का कहीं भी नोटिस कोई नहीं लगाया गया था। जिससे सैकड़ों मरीज अस्पताल में करीब एक घंटे तक इधर-उधर भटकते रहे। बाद में उन्हें पता चला कि पूर्व सीएम के मरने परा आज अवकाश घोषित किया गया है। कई मरीज तो जिले के दूर-दराज के क्षेत्रों से पहुंचें थे। मरीजों ने अस्पताल प्रबंधक पर आरोप लगाया कि यदि छुट्टी है तो बाहर नोटिस लगाना चाहिए था, ताकि मरीज नोटिस पढ़कर वापिस चले जाएं। उनका समय तो खराब नहीं होता वे अन्य कहीं इलाज कराने के लिए जा सकते थे। मरीजों का कहना है कि स्वास्थ्य सुविधाएं सरकारी छुट्टी होने के कारण बाधित नहीं होनी चाहिए। सरकार प्रशासन को इस तरफ ध्यान देना चाहिए।

^ अस्पताल में सरकारी छुट्टी का कोई नोटिस नहीं दिया गया था जिससे उन्हें बेहद परेशानी हुई। अस्पताल प्रबंधक को इस बारे में ध्यान देना चाहिए था। इसके साथ जो जरूरी ओपीडी थी वह खोली जानी चाहिए थे। छुट्टी से सैकडों मरीजों को परेशानी उठनी पड़ी है। एमरजेंसी ओपीडी होनी चाहिए।’’ओमप्रकाश, निवासीबिंदरौली।

^ मेरी बेटी शालू के दांतों में बहुत तेज दर्द है। सुबह वह घर से अस्पताल में जल्दी इसलिए आई थी ताकि समय पर डाक्टर से जांच करवा सकू परंतु अस्पताल पहुंचने पर वह काफी देर तक इधर-उधर भटकती रही। इसके बाद जब उसने इस कर्मचारी से डाक्टर आने का कारण पता चला तो उसने बताया कि आज छुट्टी है। यह सुनकर वह बेहद परेशान हुई। यदि अस्पताल के बाहर छुट्टी का नोटिस लगा होता तो उसका समय खराब नहीं होता।’’पिंकी, निवासीककरोई।

सोनीपत . सिविलअस्पताल में भटकते हुए मरीज।

खबरें और भी हैं...