• Hindi News
  • National
  • कुष्ठ के रोगियों की संख्या सोनीपत में 27, बीमारी को लेकर किया मंथन

कुष्ठ के रोगियों की संख्या सोनीपत में 27, बीमारी को लेकर किया मंथन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कुष्ठरोगियों की संख्या सोनीपत में 27 हो गई है। हालांकि इन रोगियों में सोनीपत का कोई स्थाई निवासी नहीं है। ये यूपी बिहार के रहने वाले हैं। यह बीमारी और फैले इसके लिए विश्व कुष्ठ दिवस पर सोनीपत सामान्य अस्पताल में एक सेमिनार किया गया। इसमें सिविल सर्जन डा. जसवंत पूनिया, डॉ तरुण यादव ने मुख्य वक्ता के रूप में शिरकत की और इस बीमारी के बारे में लोगों को विस्तार से जानकारी दी।

सिविल सर्जन ने कहा कि यह फैलने वाला रोग नहीं है। छह से 12 महीने तक इसका इलाज चलता है। दवा पट्टियां वितरित की गईं। डॉ तरुण यादव ने कहा कि कुछ लोग अफवाहों के चलते कुष्ठ रोगियों को परेशान करते हैं। यह लोग इसे भगवान का दिया हुआ अभिशाप बताते हैं। जबकि ऐसा नहीं है। इसलिए इसमें जांच बेहद जरूरी है। यह रोग एमडीटी दवाई खाने से पूर्णतया ठीक हो जाता है। डॉ तरुण ने कहा कि यह दवा हर सरकारी अस्पताल में निशुल्क उपलब्ध है। सोनीपत में दो बच्चे चार महिलाएं भी कुष्ठ रोगी हैं।

सोनीपत .कुष्ठ रोग के बारे में जानकारी देते हुए।

खबरें और भी हैं...