पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • सात सैंपलों की रिपोर्ट का ढाई माह बाद कोई अता पता नहीं, सेंपल प्रक्रिया पर उठे सवाल

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सात सैंपलों की रिपोर्ट का ढाई माह बाद कोई अता-पता नहीं, सेंपल प्रक्रिया पर उठे सवाल

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
24जून को इंडियन काॅलोनी से नकली होने के शक के चलते पनीर, देशी घी, दूध क्रीम के सेंपल लिए गए थे, लेकिन इनकी रिपोर्ट का ढाई माह बाद भी कोई अता-पता नहीं है। जबकि सेंपल रिपोर्ट 21 दिन में जानी चाहिए। मामले को लेकर जब अधिकारियों से पूछताछ की गई तो पुलिस स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कुछ बताने की बजाए आमने-सामने हो गए हैं।

जिला स्वास्थ्य अधिकारी (डीएचओ) डा. गीता दहिया ने आरोप लगाया कि पुलिस मौके से उन्हें सेंपल लेने ही नहीं देती, सेंपल की कार्रवाई खुद ही कर रही है। जबकि पुलिस का आरोप है कि सेंपल डीएचओ ने कब्जे में लिए ही नहीं। रेड के दौरान सेंपल वहीं छोड़ दिए, वह लैब में इन्हें जमा कराने गए तो एक सेंपल उन्हें एक हजार रुपए का पड़ गया। कुल सात हजार रुपए पुलिस को खर्च करने पड़े। यही नहीं सेंपल जमा करने में भी काफी परेशानी आई। एमडी एनआरएचएम ने तो इस प्रक्रिया पर कड़ी आपत्ति भी जताई। एमडी ने कहा यदि डीएचओ मौके पर है तो उन्हें ही सेंपल लेकर लैब में भेजने चाहिए थे। ऐसे में सेंपल भेजने की प्रक्रिया पर सवाल खड़े हो गए हैं।

फूड एंड सेफ्टी इंस्पेक्टर डीके शर्मा ने कहा कि पुलिस को सेंपल लेने का अधिकार नहीं है। यदि डीएचओ मौके पर है तो सेंपल उन्हें लेने का अधिकार है और वही सील लगाकर सभी सैंपलों को लैब भेजते हैं। पुलिस सेंपल का अंश अपने पास सुरक्षित रख सकती है। उन्होंने कहा कि यह मामला उनके संज्ञान में आया है इसका पता करेंगे। फिलहाल इन सात सैंपलों की रिपोर्ट उनके पास नहीं आई है। 21 दिन में रिपोर्ट जानी चाहिए थी।

2

1

एएसआई बिजेंद्र ने बताया कि जब वह सेंपल लेकर लैब में पहुंचे तो एमडी एनआरएचएम राजीव रतन ने कहा कि सेंपल तुम क्यों लेकर आए। उन्होंने कहा कि सेंपल स्वास्थ्य अधिकारियों को भेजने चाहिए। सैंपलों के उन्हें सात हजार रुपए खर्च करने पड़े।

डीएचओ डॉ गीता दहिया ने कहा कि सोनीपत इंडियन कालोनी में पुलिस ने रेड मारी थी। उन्हें सूचना दी गई और वह भी मौके पर पहुंचीं। इस दौरान वह सेंपल लेने में शामिल रहीं पर पुलिस ने उन्हें सेंपल लेने ही नहीं दिए। उन्होंने पुलिस से सेंपल उठाने के बारे में पूछा भी। पर जवाब मिला सेंपल वह ही रखेंगे।

नकली पनीर को लेकर सोनीपत का नाम पिछले कई माह से सुर्खियों में रहा है। एसआईटी ने पनीर नकली होने का अंदेशा जताया था। परंतु सेंपल भेजने की प्रक्रिया ने पूरे मामले को उलझा दिया। लंबा समय होने के बाद भी पनीर कैसा था इसका रेड मारने वाली एसआईटी डीएचओ को पता नहीं नहीं चल पाया है।

स्वास्थ्य विभाग स्पेशल स्टाफ की टीम ने गली नंबर दो इंडियन काॅलोनी के एक मकान पर रेड की थी। रेड के दौरान टीम को मौके पर दूध घी बनाने का कार्य होता मिला। नकली होने शक के आधार पर टीम ने यहां से दूध, क्रीम, दूध देश घी के सेंपल भरे। इसके साथ जब जांच की तो मिल्फानोल की एक भरी हुई बोतल मिली। यह सब देखकर स्वास्थ्य विभाग की टीम भी चौक गई थी।

इसके बाद स्वास्थ्य विभाग पुलिस की टीम ने इंडियन काॅलोनी की ही चार नंबर गली में एक मकान पर रेड की। मकान में एक कमरे के अंदर फ्रीज में रखे करीब 88 किलो पनीर से स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सेंपल भरे थे। दोनों व्यापारियों की शहर के अंदर करीब 25 दुकानों पर सप्लाई बताई जा रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें