पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • 442 Posts Sanctioned For Schools 77 Schools Re Open

स्कूलों के लिए 442 पद स्वीकृत, दोबारा खुले 77 स्कूल

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शिमला। प्रदेश सरकार ने दोबारा खुले 77 स्कूलों के लिए 442 पद स्वीकृत किए हैं। ये पद मिडिल, हाई और सीनियर सेकंडरी स्कूलों के लिए स्वीकृत किए गए हैं।
इसके तहत फिर से खुले मिडिल स्कूलों में टीजीटी आर्ट्स, टीजीटी नॉन मेडिकल, ओटी और शास्त्री, हाईस्कूलों के लिए हेडमास्टर, टीजीटी आर्ट्स, टीजीटी मेडिकल और भाषा अध्यापक एवं सीनियर सेकंडरी स्कूलों में प्रिंसिपल और स्कूल लेक्चरर के पद स्वीकृत किए गए हैं।
प्राइमरी स्कूलों को नहीं मिले पद
सरकार ने भले ही मिडिल, हाई और सीनियर सेकंडरी स्कूलों के लिए भले ही शिक्षकों के पद का प्रावधान कर दिया हो, मगर नए खुले 34 स्कूलों को जेबीटी टीचर नहीं दिए हैं। इस समय प्राइमरी स्कूल के लिए कम से कम दो जेबीटी शिक्षक होना जरुरी है, जिसके लिए सरकार की तरफ से जल्द पद सृजित किए जाने की संभावना है।
शिक्षक नेता सरकार से नाराज
हिमाचल प्रदेश स्कूल पदोन्नत प्रवक्ता संघ के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष जीवन शर्मा ने फिर से खोले गए स्कूलों के लिए नॉन टीचिंग स्टाफ न दिए जाने पर नाराजगी जताई है। उन्होंने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से आग्रह किया कि सरकार इस बारे जल्द निर्णय ले, ताकि स्कूलों का काम संचालित करने में किसी तरह की परेशानी न आए। हिमाचल प्रदेश शिक्षा विभाग गैर शिक्षक संघ के प्रदेशाध्यक्ष दीपराम शर्मा ने भी नए स्कूलों के लिए नॉन टीचिंग स्टाफ देने की मांग की है।
पूर्व सैनिक के लिए 725 पद भरने को हरी झंडी
हमीरपुर। राज्य में अलग-अलग विभागों में 15 फीसदी कोटे के तहत पूर्व सैनिकों को पुन: नौकरी मिलने का रास्ता साफ हो गया है। सरकार की हरी झंडी के बाद रुकी भर्ती प्रक्रिया के बाद अब 725 पदों को भरा जाएगा।
पूर्व सैनिक रोजगार सैल ने करीब 130 विभागों को पत्र लिखकर वैरीफिकेशन रिपोर्ट मांगी है। इनमें करीब 20 विभागों से जवाब आ गया है। जहां पर इस वर्ग के पदों को भरने के बारे में कहा गया है।
ये पहला मौका है जब इतने बड़े स्तर पर राज्य के भीतर ही अनुबंध आधार पर पूर्व सैनिकों को पुन: नौकरी की आस जगी है। पिछले वर्ष के अंत में चुनावों के कारण यह भर्ती प्रक्रिया रुक गई थी। नई सरकार बनते ही अब इन पदों को भरने की प्रक्रिया जोर पकड़ सकेगी।
शिक्षा, स्वास्थ्य सहित करीब 130 विभागों से टीचर्स, जेई, क्लर्क, क्लासफोर, टीजीटी, एलटी, फार्मासिस्ट, पीइटी, शास्त्री पदों को नियुक्तियों के लिए पूर्व सैनिक सैल के पास विभागों ने डिमांड भेजी है। क्लर्क की भर्ती के लिए जहां कंप्यूटर दक्षता टेस्ट पास करना जरूरी है वहीं टीचर के लिए टेट पास होना जरूरी है।
इस समय करीब 12,191 पूर्व सैनिक पुन: रोजगार के लिए पंजीकृत हैं। इनमें डिस्एवल 61, शहीद या मृत्यु के बाद पूर्व सैनिकों के आश्रित 97 शामिल हैं। शहीदों व विशेष वर्ग में सबसे ज्यादा हमीरपुर जिला से 42, कांगड़ा से 33, मंडी से 42, बिलासपुर से 21 कतार में हैं।
मिडिल: 198 पद
सरकार ने मिडिल स्कूलों के लिए अलग-अलग श्रेणियों के 198 पद स्वीकृत किए हैं। इसमें टीजीटी आर्ट्स, टीजीटी नॉन मेडिकल और ओटी/शास्त्री के एक-एक पद स्वीकृत किए हैं।
हाईस्कूल: 100 पद
हाईस्कूल के लिए अलग-अलग श्रेणी के 100 पद दिए हैं। इसमें हेडमास्टर, टीजीटी आर्ट्स, टीजीटी नॉन मेडिकल और भाषा अध्यापक का एक-एक पद स्वीकृत किया गया है।
प्लस टू: 144 पद
सरकार ने फिर से खुले प्लस टू स्कूल के लिए 144 पद दिए हैं। इसमें सभी स्कूलों के लिए एक प्रिंसिपल और हर स्कूल को पांच लेक्चरर के पद स्वीकृत किए हैं।
नॉन टीचिंग स्टाफ नहीं मिलेगा
सरकार ने स्कूलों के लिए नॉन टीचिंग स्टाफ नहीं दिया है। इससे पहले मिडिल स्कूल में चतुर्थ श्रेणी, हाईस्कूल में चतुर्थ श्रेणी और लैब अटैंडेंट, सीनियर सेकंडरी स्कूल में अधीक्षक, वरिष्ठ सहायक, लिपिक, लैब अटैंडेंट और चतुर्थ श्रेणी स्टाफ होता था। सरकार की तरफ से जारी नई अधिसूचना में इसका प्रावधान नहीं किया गया है।