नहीं थम रहीं बसों में छेड़खानी की घटनाएं, इस बार शिमला में!

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

शिमला।


समरहिल की ओर से शिमला आ रही एक प्राइवेट बस के परिचालक ने बस में सवार एक छात्रा से छेडख़ानी कर दी। पहले तो परिचालक इसे कमेंट पास करता रहा लेकिन बाद में इसके पास बैठकर छात्रा का मोबाइल नंबर मांगने लगा। बाद में छात्रा ने इसका विरोध भी किया लेकिन बस में सवार किसी भी व्यक्ति ने इसका साथ नहीं दिया। डरी सहमी छात्रा ने बाद में डीएसपी ट्रैफिक पुनीत रघु के पास इसकी शिकायत कर दी। फिलहाल पुलिस इसकी जांच कर रही है। यह छात्रा यूनिवर्सिटी में पढ़ती है।


डीएसपी को दी शिकायत के अनुसार छात्रा ने बताया कि सोमवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे वह 103 टनल के पास शिमला आ रही एक प्राइवेट बस में सवार हुई। विक्ट्री टनल तक पहुंचने के बाद बस लगभग खाली हो गई। इसी बीच मौका पाकर बस का कंडक्टर इससे छेडख़ानी करने लगा। बाद में यह छात्रा के पास जाकर बैठ गया और इससे मोबाइल नंबर मांगने लगा। इस पर छात्रा भड़क गई।


पुलिस कंट्रोल रूम को फोन
बसस्टैंड तक परिचालक इससे बदतमीजी करता रहा लेकिन छात्रा डर के मारे कुछ नहीं कर पाई। बाद में खलीणी पहुंचकर छात्रा ने पहले तो पुलिस कंट्रोल रूम फोन लगाया फिर डीएसपी पुनीत रघु का मोबाइल नंबर लेकर उनसे इसकी शिकायत कर दी। हालांकि, छात्रा ने बस का नंबर या नाम नहीं दिया लेकिन बताया कि आए दिन प्राइवेट बसों में लड़कियों से छेडख़ानी की घटनाएं सामने आ रही हैं। उसने कहा कि यदि पुलिस सादी वर्दी में सफर करे तो ऐसे बदमाशों का पकड़ा जा सकता है।

न्यायिक विभाग के कर्मचारी पर दुष्कर्म का आरोप

नाहन. हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में युवती के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पीडि़ता की मां ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई कि नाहन कोर्ट में कार्यरत न्यायिक विभाग के कर्मचारी सराहां निवासी ललित कुमार शर्मा ने सोमवार को करीब एक बजे उसकी 18 वर्षीय युवती के साथ दुष्कर्म किया। बताया जा रहा है कि युवती मानसिक रुप से अक्षम है। पीडि़ता का परिवार व आरोपी हाउसिंग बोर्ड कालोनी में आमने-सामने सरकारी आवासों में रहते हैं। सोमवार को पीडि़ता की मां बाजार में सब्जियां लेने गई थी। इस दौरान आरोपी ललित ने युवती को अपने कमरे में बुलाया। यहां पर आरोपी ने दुष्कर्म किया। पीडि़ता की मां ने यह भी बताया कि पहले भी आरोपी उसकी बेटी से दुराचार कर चुका है। पीडि़ता के पिता भी न्यायिक विभाग में कार्यरत है। दोनों ही एक साथ काम करते हैं। आईओ लेखराज ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार किया जा चुका है। पीडि़ता का मेडिकल करवाया जा रहा है।

लेडी पुलिस रखेंगी नजर

उधर, न्यू शिमला पुलिस ने इस घटना से सबक लेते हुए अपने एरिया में लेडी कांस्टेबल की तैनाती कर दी है। डीएसपी ट्रैफिक पुनीत रघु का कहना है कि सुबह आठ से दस बजे और शाम को पांच से नौ बजे तक चार लेडी कांस्टेबल सिविल ड्रेस में बसों में सफर करेंगी और ऐसे बदमाशों पर नजर रखेंगी। इनके साथ एक कांस्टेबल की ड्यूटी भी लगाई जाएगी।