पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बर्फबारी, बारिश का असर: टूटा घर-बार और दब गई एक छात्रा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रोहड़ू। बर्फबारी और बारिश के चलते रोहड़ू के सरस्वतीनगर सावड़ा में ल्हासा गिरने से एक 18 वर्षीय छात्रा की मौत हो गई है। शनिवार शाम को ल्हासा स्वास्थ्य विभाग की कॉलोनी के एक मकान पर गिरा और मकान में सो रही डीएवी स्कूल सरस्वतीनगर सावड़ा की छात्रा (ग्यारहवीं) महेश्वरी की हादसे में जान चली गई।
वहीं पुलिस का कहना है कि कॉलोनी पर अभी और ल्हासा गिरने का खतरा बना हुआ है, लेकिन किसी अन्य व्यक्ति के हादसे में घायल होने की सूचना नहीं हैं।
छात्रा परिवहन निगम रोहड़ू डिपो में आरएम के पद पर तैनात ख्याली राम की पुत्री है। उनकी पत्नी स्वास्थ्य विभाग में सेवारत है और उनका परिवार स्वास्थ्य विभाग की कॉलोनी में रहता है। पुलिस के मुताबिक लगातार बारिश के कारण ल्हासा गिरा है।
स्कूल में पेपर देने के बाद वह घर आकर अपने कमरे में आराम कर रही थी, लेकिन अचानक शाम के समय मकान पर ल्हासा गिर गया और छात्रा मकान के अंदर दब गई। सूचना मिलते पुलिस मौके पर पहुंच गई और छात्रा को रोहड़ू अस्पताल ले जाने लगी, लेकिन इससे पहले ही छात्रा ने दम तोड़ दिया।
वहीं कॉलोनी पर बने खतरे को ध्यान में रखते हुए पुलिस प्रशासन ने लोगों को चेतावनी दे दी है और सुरक्षित स्थान पर जाने के लिए कहा है। हादसे को लेकर एसएचओ जुब्बल दयाराम पुंडीर और डीएसपी रोहड़ू राज कुमार चंदेल ने बताया हादसे में छात्रा की मौत हो गई और अभी तक कॉलोनी पर ल्हासे का खतरा बना हुआ है।
एनएच 22 बंद , 39 बसें फंसी
बर्फबारी के कारण एनएच 22 बंद हो गया है। इस कारण वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से बाधित हुई है। नारकंडा, कुफरी, खड़ापत्थर, चौपाल और खिड़की में भारी हिमपात होने के कारण मार्ग बंद हो गए है। शनिवार को निगम की कोई भी बस इन रूटों पर नहीं जा सकी। एचआरटीसी की करीब 39 बसें बर्फबारी में फंस गई है। हालांकि बर्फबारी के कारण कुछ बसों को आधे रास्ते से ही वापिस बस स्टैंड भेज दिया गया,्र लेकिन कुछ बसें खड़ापत्थर में फंसी हुई है। कोटखाई से लेकर जुब्बल तक सड़क पर चारों तरफ बर्फ की चादर बिछी हुई है। एचआरटीसी रोहडू रीजन की करीब 19 बसें, चौपाल की 10 और रामपुर की 10 बसें बर्फबारी के कारण नहीं चल पा रही है। निगम के डीएम ट्रैफिक एचके गुप्ता का कहना है कि बर्फबारी के कारण बसें रूटों पर नहीं चल पाई है।
आज मैदानी क्षेत्रों में साफ रहेगा मौसम
मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक रविवार को मैदानी क्षेत्रों में मौसम साफ रहेगा। जबकि मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी होगी।
27 को फिर बारिश
27 फरवरी को फिर से मैदानी क्षेत्रों में हिमपात और भारी बारिश होने की संभावना जताई गई है। बारिश और बर्फबारी के बाद तापमान में भी गिरावट आई है।
हमीरपुर में ढह गया मकान
हमीरपुर. वार्ड-5 में शनिवार सुबह एक मकान के चार कमरे बारिश के कारण गिर गए। यहां रह रहे पांच परिवार बाल-बाल बच गए। करीब 3 लाख का नुकसान आंका गया है। घटना सुबह करीब पांच बजे की है। बारिश शुक्रवार देर रात से हो रही थी। जब कमरे गिरे, उस समय भीतर नीलम देवी, राहुल, इजहार, रमेश चंद, रेखा देवी का परिवार सो रहा था, तेज आवाज के साथ ही सभी लोग बार निकल गए। मकान मालिक विद्या देवी के मुताबिक इस मकान में 6 परिवार किराए के तौर पर रह रहे थे। मकान के बीच वाले छत के भाग के नीचे बैठ जाने से चार कमरे गिर गए। सभी परिवारों का हजारों का घरेलू सामान भी नीचे दब जाने से नष्ट हो गया है। हालांकि परिवारों ने कुछ सामान तो बाहर निकाल लिया, लेकिन मकान के 4 कमरों के साथ लगे दो अन्य कमरों के भी गिरने का खतरा मंडराने लगा है। वहीं हल्का पटवारी राजकुमार ने मौके पर पहुंच कर जायजा लिया, उनका कहना है कि नुकसान की रिपोर्ट बना कर तहसीलदार हीरा सिंह को शीघ्र ही सौंप दी जाएगी।
रोहतांग मे३ फीट बर्फ
रोहतांग र्दे में तीन फुट ताजा हिमपात हुआ है। राहनीनाला में पौने तीन, मढ़ी में अढ़ाई फुट, गुलाबा में सवा दो फुट, कोठी व सोलंग में दो फुट, पलचान, कुलंग व मझाच में एक पौना फुट, बुरुआ, शनाग, गोशाला, मनाली गांव, वशिष्ठ व बाहंग में आधा फुट ताजा बर्फबारी हुई है।री मनाली में चार इंच बर्फ गिर चुकी है। मनाली-कुल्लू नेशनल हाइवे के क्लाथ तक का क्षेत्र बर्फ के फाहों से सराबोर हुआ है जबकि वामतट के अलेऊ, प्रीणी, जगतसुख, हरिपुर, नग्गर व जाणा क्षेत्र भी बर्फ की चपेट में हैं।