• Hindi News
  • Opposition Demands: Government Did Not Change The Name Of Plans On Atal

विपक्ष की मांग: अटल के नाम चली योजनाएं न बदले सरकार

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
धर्मशाला। पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल ने कहा है कि प्रदेश सरकार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर चल रही योजनाओं को पहले की तरह चलने देना चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार यदि केंद्रीय नेताओं के नाम पर चल रही योजनाओं के नाम बदलती है, तो यह स्वस्थ परंपरा नहीं होगी।
धूमल ने यह बात वीरवार को हिमाचल प्रदेश विधानसभा शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री का हिमाचल प्रदेश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। इसका प्रदेश सरकार को ध्यान रखना चाहिए।
पर्यावरण का जिक्र नहीं
धूमल ने इस बात पर आपत्ति जताई कि राज्यपाल के अभिभाषण में पर्यावरण का कोई जिक्र नहीं है। पूर्व सरकार के पर्यावरण के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने के कारण ही हिमाचल प्रदेश को साढ़े पांच सौ करोड़ रुपए ऋण स्वीकृत हुआ है।
मेहनत से मिले अवार्ड
धूमल ने कहा कि सरकार की तरफ से बेहतर कार्य करने के कारण ही हिमाचल प्रदेश को श्रेष्ठ कार्य के अवार्ड मिले हैं। यह अवार्ड किसी फिक्सिंग से नहीं मिले हैं। यदि सत्ता पक्ष इसे फिक्सिंग मानता है, तो यह फिक्सिंग देश के राष्ट्रपति से हुई है।
बेरोजगारी भत्ता जल्द दे सरकार : धूमल
धूमल ने कहा कि कांग्रेस ने चुनाव के दौरान बेरोजगारी भत्ता देने की जो घोषणा की थी, उस पर सरकार को जल्द अमल करना चाहिए। सरकार को कृषि, बागवानी एवं पशुपालन जैसी योजनाओं को भी गंभीरता से लेना चाहिए।
ञ्च कांग्रेस ने उठाया कर्ज : धूमल ने कहा कि सत्ता पक्ष प्रदेश के ऊपर 26 हजार करोड़ रुपए के जिस कर्ज की बात कहता है, उसके लिए कांग्रेस जिम्मेदार है। जब भाजपा सत्ता में आई, तो उस समय प्रदेश पर 24 हजार करोड़ रुपए का कर्ज था।
औद्योगिक पैकेज मांगा
धूमल ने हिमाचल प्रदेश के लिए औद्योगिक पैकेज बहाली की मांग की। साथ ही प्रदेश सरकार से रेल विस्तार से संबंधित मामले को उठाने की वकालत की। भाजपा ने सत्ता में रहते हुए हिमाचल प्रदेश के विकास के लिए कार्य किया और सत्ता में आने पर अब कांग्रेस को विकास गति तेज करनी चाहिए।