पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

19 एचएएस अफसरों के तबादले का आदेश, 5 को अतिरिक्त जिम्मा सौंपा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शिमला। प्रदेश सरकार ने प्रशासनिक फेरबदल करते हुए 14 एचएएस अधिकारियों के तबादले किए हैं। साथ ही पांच एचएएस अधिकारियों को अतिरिक्त जिम्मा सौंपा गया है। इसके तहत कंट्रोलर, प्रिंटिंग एंड स्टेशनरी को मिशन डायरेक्टर एनआरएचएम और विजय कुमार को एसीटूडीसी कांगड़ा के पद से तब्दील कर सचिव हिमाचल प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड हमीरपुर लगाया है।
जिला पर्यटन अधिकारी सोलन धनबीर ठाकुर को एसडीएम ऊना, सर्वशिक्षा अभियान के राज्य प्रोजेक्ट डायरेक्टर राकेश कंवर को विशेष सचिव एमपीपी एंड पॉवर लगाया है। उनके पास विशेष सचिव राजस्व-आपदा प्रबंधन सैल का अतिरिक्त कार्यभार भी रहेगा। वे इस पद के अतिरिक्त कार्यभार से नंदिता गुप्ता को भारमुक्त करेंगे।
विशेष सचिव लोक निर्माण विभाग लोकेंद्र सिंह चौहान को निदेशक लघु बचत और प्रबंध निदेशक हिमफैड राकेश शर्मा को नियंत्रक मुद्रण एवं स्टेशनरी का अतिरिक्त जिम्मा सौंपा गया है। हिमांशु शेखर चौधरी को एडीसी कम प्रोजेक्ट डायरेक्टर डीआरडीए हमीरपुर के पद पर तैनाती गई है।
अतिरिक्त निदेशक शहरी विकास डीएस नेगी को कार्यकारी निदेशक हिमुडा, सचिव हिमाचल प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड हमीरपुर विनोद कुमार को आरटीओ कांगड़ा और एडीसी कम प्रोजेक्ट डायरेक्टर हमीरपुर राजेश्वर गोयल को अतिरिक्त निदेशक उच्च शिक्षा लगाया है।
इस पद का जिम्मा अब तक आशीष कोहली के पास था। अतिरिक्त निदेशक पंचायती राज कम एक्स ऑफिसियो संयुक्त सचिव पंचायती राज चमन दिल्टा को अतिरिक्त निदेशक आईजीएमसी तथा चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान का अतिरिक्त कार्यभार दिया है।
सीईओ बीबीएनडीए बद्दी राजेश कुमार को जिला पयर्टन विकास अधिकारी सोलन और एसडीएम अंब अश्वनी रमेश को प्रोजेक्ट डायरेक्ट सर्व शिक्षा अभियान लगाया है। आरटीओ हमीरपुर सुखदेव सिंह को एसडीएम अंब और एसीटूडीसी सिरमौर सुरेश कुमार भारद्वाज को आरटीओ हमीरपुर लगाया है।
अंडर ट्रांसफर राणा प्रीतपाल सिंह को एसीटूडीसी नाहन, एसडीएम मनाली विनय धीमान को जिला पर्यटन विकास अधिकारी मनाली का अतिरिक्त कार्यभार दिया है। अंडर ट्रांसफर संदीप सूद को एसीटूडीसी कांगड़ा और जिला पर्यटन विकास अधिकारी सोलन यशपाल सिंह वर्मा को एसडीएम रोहड़ू लगाया है।
प्रदेश सरकार ने आईएफएस अधिकारी बीडी सुयाल को अपने गृह विभाग में वापस भेजने का निर्णय लिया है। उनको वन विभाग में जल्द तैनाती दी जाएगी।