• Hindi News
  • Twelfth Assembly, First Day: 66 Legislators Took The Oath In Tapovan

बारहवीं विधानसभा, पहला दिन: तपोवन में 66 विधायकों ने ली शपथ

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
धर्मशाला। बारहवीं विधानसभा का पहला शीतकालीन सत्र मंगलवार को धर्मशाला के तपोवन में नवनिर्वाचित विधायकों के शपथ ग्रहण के साथ शुरू हुआ। 8 से 11 जनवरी तक चलने वाले इस सत्र के पहले दिन प्रो-टेम स्पीकर मनसा राम ने सबसे पहले सदन के नेता एवं मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को शपथ दिलाई। इसके बाद विपक्ष के नेता प्रेम कुमार धूमल ने शपथ ली। सदन और विपक्ष के नेता के बाद सभी मंत्रियों, मुख्य संसदीय सचिवों एवं विधायकों को शपथ दिलाई गई।
पंचकूला के बहुचर्चित ज्योति मर्डर कांड के आरोपी दून के विधायक राम कुमार चौधरी को छोड़ 66 विधायकों ने शपथ ली। करसोग के विधायक मनसा राम प्रो-टेम स्पीकर की शपथ शिमला में ले चुके हैं।
यह लगातार दूसरा मौका है जब तपोवन स्थित विधानसभा भवन में नव निर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाई गई। मंगलवार को सदन की कार्रवाई सवा दो घंटे तक चली।
सबसे पहले आए वीरभद्र
मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह शहरी विकास एवं नगर नियोजन मंत्री सुधीर शर्मा के साथ सबसे पहले सदन में आए। विपक्ष की तरफ से सदन में सबसे पहले पूर्व मंत्री गुलाब सिंह ठाकुर और आईडी धीमान कार्यवाही में भाग लेने पहुंचे। जैसे ही विपक्ष के नेता प्रेम कुमार धूमल सदन में पहुंचे, मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और मंत्रिमंडल में उनके सहयोगी सुधीर शर्मा ने उनके आसन के पास जाकर अभिवादन किया। साथ ही वह अन्य विधायकों से भी मिले। वीरभद्र सिंह जब हिलोपा अध्यक्ष महेश्वर सिंह का अभिवादन करने उनके पास पहुंचे, तो उन्होंने मुख्यमंत्री के पांव छुए।
परिजन भी कार्यवाही को देखने आए। इसमें महेश्वर सिंह, कर्ण सिंह, विनय कुमार की धर्मपत्नियां दर्शक दीर्घा में बैठी नजर आईं। इसी तरह अन्य विधायकों के परिजन भी दर्शक दीर्घा में नजर आए।
सदन में 23 नए चेहरे
कांग्रेस के सत्ता में आने से विधानसभा के अंदर तस्वीर बदली नजर आई। इस बार 24 विधायक नए चुनकर आए हैं, जिसमें राम कुमार चौधरी को छोड़ 23 विधायक मौजूद थे। इसी तरह मुख्यमंत्री के आसन पर वीरभद्र सिंह और विपक्ष के नेता के आसन पर प्रेम कुमार धूमल बैठे थे। मुख्यमंत्री के अलावा सत्ता पक्ष की अग्रिम पंक्ति में विद्या स्टोक्स, कौल सिंह ठाकुर, जीएस बाली, सुजान सिंह पठानिया, ठाकुर सिंह भरमौरी, मुकेश अगिAहोत्री, कुलदीप कुमार और बृज बिहारी लाल बुटेल नजर आए। इसी तरह विपक्ष बैंच की अग्रिम पंक्ति में प्रेम कुमार धूमल, गुलाब सिंह ठाकुर, आईडी धीमान, महेंद्र सिंह, रविंद्र सिंह रवि और जयराम ठाकुर बैठे थे।
पहली बार एक विधायक नहीं
प्रदेश विधानसभा के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि कोई विधायक शपथ ग्रहण समारोह में उपस्थित न हुआ हो। दून के नवनिर्वाचित विधायक राम कुमार चौधरी समारोह में उपस्थित नहीं थे। यही नहीं राम कुमार प्रदेश के पहले ऐसे विधायक हैं, जिन्हें भगौड़ा घोषित करने के साथ उनपर पर 2 लाख रुपए का ईनाम भी रखा गया था। गौरतलब है कि पंचकूला के बहुचर्चित ज्योति मर्डर केस में रामकुमार आरोपी थे और काफी समय से फरार थे। मंगलवार को जब तपोवन में मनसा राम सभी नए विधायकों को शपथ समारोह में शपथ दिला रहे तो उसी समय रामकुमार चौधरी ने पंचकूला में पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।
4 ने अंग्रेजी में ली शपथ
सदन में जहां अधिकांश विधायकों ने हिंदी, जबकि चार विधायकों ने अंग्रेजी में शपथ ली। अंग्रेजी में शपथ लेने वाले विधायकों में अजय महाजन, बीएल ठाकुर और अनिरुद्ध सिंह, रवि ठाकुर शामिल हैं।
3 महिला विधायक
वर्तमान विधानसभा के लिए इस बार तीन महिलाएं विधायक बनकर सदन में पहुंची है। इसमें कांग्रेस की तरफ से आईपीएच मंत्री विद्या स्टोक्ट, पूर्व मंत्री आशा कुमारी और सरवीण चौधरी शामिल हैं।
23 विधायक टोपियां पहन कर आए
विधानसभा के शीतकालीन सत्र में भाग लेने के लिए 23 विधायक अलग-अलग तरह की टोपियां पहनकर सदन में आए। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह सहित 14 नवनिर्वाचित विधायकों ने हरे रंग टोपी पहन रखी थी। विपक्ष के नेता प्रेम कुमार धूमल सहित उनके दल के पांच विधायकों ने लाल रंग की टोपी, जबकि हिलोपा अध्यक्ष महेश्वर सिंह सहित तीन विधायकों ने कुल्लू टोपी और कांग्रेसी विधायक अजय महाजन ने काले रंग की पट्टी वाली टोपी पहन रखी थी।
यह नई पीढ़ी के पहुंचे
बारहवीं विधानसभा में पूर्व में मंत्री और विधायक रहे नेताओं के परिजन जीतकर सदन में पहुंचे हैं। इसमें सुधीर शर्मा, नीरज भारती, अनिल शर्मा, बृज बिहारी लाल बुटेल, अजय महाजन, यादवेंद्र गोमा, रोहित ठाकुर, रवि ठाकुर, गोविंद ठाकुर और विनय कुमार शामिल है।
वीरेंद्र पत्नी सहित आए
हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी वीरेंद्र सिंह चौधरी पत्नी सहित कार्यवाही को देखने के लिए वीवीआईपी दीर्घा में बैठे थे। उनके साथ एआईसीसी के सचिव अनीस अहमद और पूर्व सांसद विप्लव ठाकुर सहित कई अन्य नेता भी मौजूद थे।