पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मेरी कंपनी ने यूजर की डाटा सीक्रेसी पर गलती की, गलत इस्तेमाल रोकने के लिए कदम उठाएंगे: जुकरबर्ग

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

वॉशिंगटन.     फेसबुक सीईओ मार्क जुकरबर्ग (33) ने गुरुवार को कहा कि यूजर्स की डाटा सीक्रेसी को लेकर मेरी कंपनी ने गलती की है। किसी के पर्सनल डाटा का गलत इस्तेमाल रोकने के लिए कदम उठाए जाएंगे। "मैंने फेसबुक शुरू किया था। इस प्लेटफॉर्म पर जो होता है, उसके लिए अंत में मैं ही जिम्मेदार हूं। बता दें कि अमेरिकी और ब्रिटिश मीडिया ने दावा किया है कि कैंब्रिज एनालिटिका ने 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स के डेटा का यूएस इलेक्शन में गलत इस्तेमाल किया था।  भारत ने कहा था कि चुनाव प्रक्रिया प्रभावित करने की कोशिश बर्दाश्त नहीं करेंगे। जरूरत पड़ी तो फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग भी तलब होंगे।"

 

 

 

जुकरबर्ग ने फेसबुक पोस्ट में क्या लिखा?

- "मैंने फेसबुक शुरू किया था। इस प्लेटफॉर्म पर जो होता है, उसके लिए अंत में मैं ही जिम्मेदार हूं। डाटा लीक रोकने के लिए मैं काफी गंभीर हूं। अपने यूजर्स का डाटा लीक होने से रोकने के लिए फेसबुक ही जिम्मेदार है। लेकिन हम इसमें नाकाम रहे। हम आपको सेवाएं देने के लिए लायक नहीं हैं।"
- "अब हमारी कंपनी को बहुत कुछ करने की जरूरत है। हमने गलती की है। हम जरूरी कदम उठाएंगे। और हम ऐसा कर रहे हैं।"

 

3 चरणों में डाटा का गलत इस्तेमाल रोकेंगे
- जुकरबर्ग ने कहा कि हम 3 चरणों में डाटा का गलत इस्तेमाल रोकेंगे।
1. "जानकारियां देने से पहले हम सभी ऐप्स की जांच करेंगे। 2014 में डाटा एक्सेस के लिए हमने अपने प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कम कर दिया है। संदिग्ध गतिविधि दिखने पर किसी भी ऐप का ऑडिट कराया जाएगा। अगर कोई डेवलपर पूरे ऑडिट के लिए तैयार नहीं होगा तो उसे हम फेसबुक का प्लेटफॉर्म मुहैया नहीं कराएंगे। अगर हमें पता चला कि कोई डेवलपर इन्फॉर्मेशन का गलत इस्तेमाल कर रह है तो उसे बैन कर दिया जाएगा। लोगों को भी इस बारे में सूचना दी जाएगी।"
2. किसी तरह की कोई गलती न हो, उस स्थिति को रोकने के लिए डेवलपर्स को डाटा एक्सेस नहीं दिया जाएगा।
3. अगले महीने फेसबुक हर किसी को अपने न्यूज फीड के टॉप पर एक टूल दिखाएगा जो यूजर इस्तेमाल कर चुके हैं। ये ऐप की परमिशन को रद्द करने का एक आसान तरीका है।

 

रविशंकर प्रसाद ने दी थी फेसबुक चेतावनी
- करीब 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स का डाटा चुराकर अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में दुरुपयोग के खुलासे के बाद अमेरिका की राजनीति में उठा भूचाल बुधवार को भारत पहुंचा। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आरोप लगाया था, "2019 का चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस डाटा चोरी की आरोपी रिसर्च फर्म कैंब्रिज एनालिटिका की सेवाएं ले रही है। भारत में 20 करोड़ फेसबुक यूजर्स हैं। चुनाव प्रक्रिया प्रभावित करने की कोशिश बर्दाश्त नहीं करेंगे। जरूरत पड़ी तो फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग भी तलब होंगे।"

 

फेसबुक पर इतना बवाल क्यों, 6 प्वाइंट्स

 

1) 2016: ट्रम्प के राष्ट्रपति चुनाव जीतने से शुरुआत 
आरोप लगा कि ट्रम्प को अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव जिताने के लिए रूसी दखल था। हिलेरी की रणनीतियां हैक करके ट्रम्प को भेजी गईं। सोशल मीडिया डेटा का गलत इस्तेमाल हुआ। एफबीआई ने रूस के 13 लोगों और तीन कंपनियों पर आरोप तय किए हैं। 

 

2) 17 मार्च 2018:अमेरिकी व ब्रिटिश मीडिया में खुलासा 
गार्डियन और न्यूयॉर्क टाइम्स ने छापा कि ट्रम्प के कैंपेन से जुड़ी ब्रिटिश फर्म कैंब्रिज एनालिटिका ने 2014 में 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स का डेटा गलत तरीके से हासिल किया था। फेसबुक को इसका पता था, पर यूजर्स को सतर्क नहीं किया गया। 

 

3) 18 मार्च 2018:वादा नहीं निभाया एनालिटिका ने 
फेसबुक ने एनालिटिका को अपने प्लेटफॉर्म से सस्पेंड कर दिया। साथ ही सफाई दी कि 2015 में ही उसका एप बैन कर दिया था। एनालिटिका ने सारा डेटा डिलिट करने का भरोसा दिया था, पर अब पता चला कि उसने ऐसा नहीं किया। 

 

4) आखिर डाटा का गलत इस्तेमाल होता कैसे है 
एनालिटिका के सीईओ ने बताया कि कंपनी फेसबुक यूजर्स के साइकोलॉजिकल प्रोफाइलिंग के साथ अपने क्लाइंट के समर्थन में आैर विरोधी के खिलाफ सूचनाएं प्लांट करती है। इससे जनमत बदलता है। 

 

5) 21 मार्च 2018: विवाद ने भारत में दस्तक दी 
भाजपा ने आरोप लगाया कि 2019 का चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस एनालिटिका की सेवाएं ले रही है। आशंका जताई कि राहुल के ट्विटर फॉलोअर्स बढ़ने के पीछे इसी का हाथ तो नहीं है? 

 

6) 19 मार्च 2018:सीईओ का स्टिंग ऑपरेशन में खुलासा 
ब्रिटिश चैनल 4 ने एनालिटिका के सीईओ एलेग्जेंडर निक्स का स्टिंग किया। उन्होंने माना कि क्लाइंट को जिताने के लिए हर हथकंडा अपनाते हैं। डेटा पर काम करने के चलते ट्रम्प को बड़ी जीत हासिल हुई। 

 

 

आगे की स्लाइड में पढ़ें: डाटा चोरी पर कांग्रेस का बीजेपी पर आरोप...

 

खबरें और भी हैं...