पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

क्या बलात्कार के लिए सिर्फ 7 साल की सज़ा काफ़ी है?

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

गुवाहाटी में महिला के साथ हुई सरेआम बदतमीज़ी को देखकर लोग बेहद नाराज़ हैं। इस नाराज़गी ने एक पुरानी बहस को फिर से हवा दे दी है कि ऐसे घिनौने काम करने वाले लोगों को क्या सज़ा दी जाए ? क्या बलात्कार के लिए सिर्फ 7 साल की सज़ा काफ़ी है ? और क्या बलात्कारियों के मन में इस सज़ा का कोई डर है?

देश में छेड़छाड़ और बलात्कार के मामले तो साल दर साल बढ़ रहे हैं। NCRB के नए आंकड़ों को देखें तो पिछले साल देश में रेप, मोलेस्टेशन और सेक्सुअल हरैस्मेंट के 75744 मामले सामने आए। इन मामलों में 50 प्रतिशत से भी कम अपराधियों को सज़ा मिली।

अब इस तरह के अपराधों के लिए ज़्यादा कड़ी सज़ा की मांग की जा रही है। दुनिया के कुछ मुल्कों में ऐसे अपराधों के लिए उम्रकैद या मौत की सज़ा भी दे दी जाती है।

फोटो फीचर में पेश है दुनिया के अलग-अलग मुल्कों में ऐसे अपराधों के लिए मुर्करर सज़ा।



आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

और पढ़ें