• Hindi News
  • Followers Of Pakistan Cleric Flood Islamabad

पाकिस्तान सरकार की नाक में दम, हजारों की भीड़ संसद के बाहर डाला डेरा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इस्लामाबाद. पाकिस्तान में मौलवी ताहिर-उल-कादरी के नेतृ्त्व में हजारों लोग मंगलवार को लाहौर से इस्लामाबाद पहुंच गए। हजारों लोग पहले से ही इस्लामाबाद के कांस्टीट्यूशन एवेन्यू के पास जमा हो गए हैं। यहां यह मार्च खत्म होना है। कादरी खुद बम प्रूफ गाड़ी में पुलिस की गाड़ियों के पहरे में चल रहे हैं।
पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक कादरी और उनके काफिले को संघीय राजधानी में आने की इजाजत दे दी गई है। इसके लिए इस्लामाबाद के डिप्टी कमिश्नर और तहरीक मिनहाज-उल-कुरान संगठन के नेताओं में समझौता हुआ है। कादरी इसी संगठन के मुखिया हैं। पाकिस्तानी टीवी चैनलों के मुताबिक रैली में 20-30 हजार के करीब समर्थक शामिल हैं।
सरकार ने ‘इस्लामाबाद मार्च’ की सुरक्षा पर करीब पांच करोड़ रुपए खर्च किए हैं। लगभग 10 हजार पुलिसवाले तैनात हैं। गृह मंत्री रहमान मलिक इस रैली पर तालिबान के हमले की आशंका जता चुके हैं। कादरी कनाडा में सात साल रहने के बाद पिछले महीने पाकिस्तान लौटे हैं। उनका संगठन पिछले महीने लाहौर में हुए एक जलसे के बाद चर्चा में आया। इसमें 10 लाख से अधिक लोग आए थे।
कादरी की मुख्य मांगें
चुनाव आयोग को भंग करो। राजनीतिक दलों, सेना और न्यायपालिका से सलाह के बाद केयरटेकर सरकार बने। चुनाव से पहले चुनाव सुधार लागू हों। पीपीपी और पीएमएन-एन दोनों भ्रष्ट हैं, भरोसे लायक नहीं हैं।

तस्वीरों में देखें पाकिस्तान में कैसा हुआ हुकूमत के खिलाफ ऐलान-ए-जंग...