पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पाकिस्तान का अड़ियल रुख, कहा- वार्ता में शर्त मंजूर नहीं

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इस्लामाबाद. भारत के साथ संबंधों को लेकर पाकिस्तान अड़ियल रुख पर कायम है। उसने कहा है कि वह बातचीत में किसी शर्त को नहीं मानेगा। पाकिस्तान ने रक्षा मंत्री अरुण जेटली के बयान को भी खारिज कर दिया है। यह भी कहा है कि कश्मीरी नेता अलगाववादी नहीं हैं, बल्कि आजादी के लिए संघर्ष कर रहे हैं। पाकिस्तान के विदेश विभाग की प्रवक्ता तसनीम असलम ने गुरुवार को कहा, ‘बातचीत अमन के लिए जरूरी है।
ताकि दक्षिण एशिया भी आर्थिक तरक्की और लोगों की बेहतरी पर ध्यान दे सके। हम कहते आए हैं कि भारत-पाकिस्तान के बीच बातचीत होना किसी एक मुल्क का दूसरे पर किया एहसान नहीं है।’ वे जेटली के बयान पर प्रतिक्रिया दे रही थीं। जेटली ने बुधवार काे नई दिल्ली में कहा था कि पाकिस्तान पहले तय करे कि उसे भारत से बातचीत करनी है या भारत को तोड़ने वालों से। तसनीम ने इस पर कहा, ‘हमें कोई शर्त मंजूर नहीं है। कश्मीर के नेता भारतीय अलगाववादी नहीं हैं।’

भारत के लिए कराची बंदरगाह खाेलेगा पाक

पाकिस्तान के सड़क मार्ग से अफगानिस्तान को भारत गेहूं निर्यात करना चाहता है। इस बारे में पूछने पर पाकिस्तान के विदेश विभाग की प्रवक्ता ने कहा, ‘हम अफगानिस्तान और भारत के बीच कारोबार में रोड़ा नहीं बनना चाहते। भारत के लिए तो कराची बंदरगाह भी उपलब्ध है।’