--Advertisement--

2 मिनट की गाइड: मध्यम वर्ग अपना ध्यान खुद रखे, 9 सवाल से समझें बजट के मायने

2 मिनट की गाइड: मध्यम वर्ग अपना ध्यान खुद रखे, 9 सवाल से समझें बजट के मायने

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 08:12 AM IST
इस बार के बजट में सबसे ज्यादा गांव, गरीब और किसानों का ख्याल रखा गया। इस बार के बजट में सबसे ज्यादा गांव, गरीब और किसानों का ख्याल रखा गया।

नई दिल्ली. इतिहास में पहली बार आम बजट में देश में बना कोई सामान सस्ता-महंगा नहीं हुआ। क्योंकि, बजट में अब ऐसा होगा ही नहीं। 1 जुलाई, 2017 को जीएसटी लागू हुआ। और तब से जीएसटी काउंसिल ही कीमत तय करवाती है। इसे संसद की मंजूरी की जरूरत भी नहीं है। इस सिस्टम में बदलाव के लिए संविधान में बदलाव करना होगा। हालांकि, पेट्रो प्रोडक्ट, शराब, बिजली और रियल एस्टेट जीएसटी से बाहर हैं। सरकार के पास बजट के लिए सिर्फ कस्टम ड्यूटी बची है। जो सिर्फ विदेशी सामान पर लगती है। जैसे कि इस बजट में टीवी और मोबाइल पर लगाई है।

Q. बजट कैसा है?

- पूरी तरह चुनावी। पिछली तीन सरकार का चुनाव से पहले का पूर्ण बजट किसी पॉपुलिस्ट दिशा में नहीं थे।

Q. लेकिन टैक्स छूट न देने की वजह?
- मोदी सरकार मध्यम वर्ग से बचती ही है। शुरुआती बजट में ही अरुण जेटली ने स्पष्ट कहा था: ‘मध्यम वर्ग अपना ध्यान खुद रखे।’

Q. मिडिल क्लास तो उन्हें जिताती है?
- इसी धारणा को वो तोड़ना चाहते हैं।

Q. और उनकी नाराज़गी?
- कुछ नहीं होगा। मध्यम वर्ग बजट वाले दिन टैक्स छूट न मिलने पर बुरी तरह नाराज़ होता है। आखिर में वह ‘गुड गवनर्स’ पर ही वोट देता है।

Q. महंगाई का क्या?
- बढ़ेगी।

Q. और आमदनी?
- मध्यम वर्ग और टैक्स पेयर की नहीं बढ़ेगी। जबकि खर्च बढ़ेगा।

Q. बजट की सबसे बड़ी बात?
- गरीब के लिए 5 लाख का बीमा। वास्तव में यह देश का इतिहास की पहली योजना है 50 करोड़ लोग, नाम के साथ फायदा ले सकेंगे। बग़ैर कोई काम किए। मनरेगा में करोड़ युवा को लाभ है। किन्तु ये काम है।

Q. क्या यह चुनावी है?
- यह क्रांतिकारी पहल है। वैसे यह सरकारी हॉस्पिटल में चल रही घोर लापरवाही से ही उभरी लगती है। सरकार इलाज करे, इसकी बजाय इलाज का पैसे दे दे। हालांकि 10% इतने पैसे वाला इलाज कराएंगे- तो ढाई लाख करोड़ चाहिए। कहां से आएंगे?

Q. कारोबार के लिए कुछ अलग?
- 250 करोड़ टर्न ओवर तक टैक्स कम कर दिया। सभी सक्रिय, तेज़ और पैसा कमाने वाले कारोबार इसी कैटेगरी में हैं। तो फायदा बढ़ेगा।
- कुलजमा यह बजट ‘मोदीकेयर’ के लिए यादगार रहेगा। क्योंकि इतना बड़ा बीमा तो बड़ी-बड़ी प्राइवेट इंटरनेशनल कंपिनयां भी नहीं देतीं।

बजट में मध्यम वर्ग को उसके हाल पर छोड़ दिया गया है। बजट में मध्यम वर्ग को उसके हाल पर छोड़ दिया गया है।
X
इस बार के बजट में सबसे ज्यादा गांव, गरीब और किसानों का ख्याल रखा गया।इस बार के बजट में सबसे ज्यादा गांव, गरीब और किसानों का ख्याल रखा गया।
बजट में मध्यम वर्ग को उसके हाल पर छोड़ दिया गया है।बजट में मध्यम वर्ग को उसके हाल पर छोड़ दिया गया है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..