--Advertisement--

आम बजट 2018: हर बजट से पहले मंत्री खाते हैं हलवा और बेसमेंट में रहते हैं 'कैद', जानिए क्यों

आम बजट 2018 1 फरवरी को पेश होने वाला है जिसकी तैयारियों में पूरा वित्त मंत्रालय और वित्त मंत्री अरुण जेटली लगे हैं।

Dainik Bhaskar

Jan 05, 2018, 01:04 PM IST
India Union Budget 2018, India budget unknown facts, आम बजट से जुड़ी जानकारी

आम बजट 2018 1 फरवरी को पेश होने वाला है जिसकी तैयारियों में पूरा वित्त मंत्रालय और वित्त मंत्री अरुण जेटली लगे हैं। आम बजट 2018 कई मायनों में अहम है। एक तो यह जीएसटी के बाद आने वाला पहला बजट है और दूसरा, भारतीय यूनियन बजट 2018 नरेंद्र मोदी सरकार का अंतिम बजट होगा क्योंकि 2019 में लोकसभा चुनाव होने हैं।

आम बजट 2018: मिडिल क्लास को मिलेगी बड़ी राहत, 10 हजार की टैक्स छूट लिमिट बढ़ेगी

लेकिन क्या आप जानते हैं कि बजट पेश करने से पहले एक रस्म वित्त मंत्रालय में निभाई जाती है और इस रस्म के बिना बजट पास भी नहीं किया जाता ?

सुनकर आप हैरान होंगे, लेकिन यह सच है।

बजट से पहले हलवा

यह रस्म है हलवा खाने की। दरअसल जब बजट (चाहे अंतरिम या रेल बजट हो या फिर आम बजट) बनकर तैयार हो जाता है तो उसे छपने के लिए भेजे जाने के बाद हलवा खिलाने की रस्म होती है। इसमें वित्त मंत्रालय के सभी अधिकारी हलवा खाते हैं।


आम बजट 2018: महिलाओं के लिए खास होगा बजट, मिल सकता है बड़ा फायदा

बजट पेश होने तक सभी मंत्री बेसमेंट में बंद

दूसरी रस्म जो बजट पेश होने से पहले निभाई जाती है वो यह कि जो भी अधिकारी बजट की प्लानिंग से जुड़े होते हैं उन्हें एक बेसमेंट में लॉक कर दिया जाता है और वो तभी सभी के सामने आते हैं जब वित्त मंत्री बजट पेश कर देते हैं।

आम बजट 2018: हर बजट से पहले मंत्री खाते हैं हलवा और बेसमेंट में रहते हैं 'कैद', जानिए क्यों

तब तक बजट से जुड़े सभी अधिकारी या वित्त मंत्रालय के अधिकारी किसी के भी संपर्क में नहीं रहते और ना ही बात करते हैं। यहां तक कि वो अपने परिवार से भी तब तक दूर रहते हैं जब तक बजट पेश नहीं हो जाता। अगर कोई बातचीत भी होती है तो वो इंटेलिजेंस अफसर की निगरानी में होती है।

भारतीय बजट से जुड़ी अन्य जानकारी

भारतीय बजट का इतिहास 150 सालों से भी पुराना है। देश का पहला बजट ब्रिटिश सरकार के वित्त मंत्री जेम्स विल्सन ने पेश किया था जबकि स्वतंत्र भारत का पहला बजट पहले वित्त मंत्री आर. के. षणमुखम शेट्टी ने पेश किया था। आजादी से लेकर अभी तक बजट पेश करने के तौर-तरीकों और नियमों में काफी बदलाव आया है। अब बजट की पेशी और भी सीक्रेट तरीके से होती है।

सबसे ज्यादा बार मोरारजी देसाई ने पेश किया बजट

सबसे ज्यादा बार मोरारजी देसाई ने बजट पेश किया। उन्होंने 10 बार बजट पेश किया था और उनके बाद प्रणब मुखर्जी, पी. चिदंबरम और पी. डी. देशमुख का नाम आता है।

चूंकि अब बात हलवा की बात हो रही है और वो इतना जरूरी है कि वित्त मंत्रालय के अधिकारी भी बजट पेश करने से पहले खाते हैं, इसलिए हलवा की रेसिपी जान लेते हैं।

हलवा बनाने की विधि

  • सूजी का हलवा बनाने के लिए हमें चाहिए सूजी 2 कप, 4 कप पानी, देसी घी, किशमिश, काजू, बादाम, इलायची और सूखा नारियल।
  • सबसे पहले सूजी को थोड़े से देसी घी में भून लें और जब वो भुन जाए तो उसे निकालकर अलग रख लें।
  • अब उसी कढ़ाई में 4 कप पानी डालें, आधा कप चीनी डालें और उबाल आने तक इंतजार करें।
  • जब उबाल आ जाए तो उसमें किशमिश, काजू बादाम या जो भी ड्राई फ्रूट आप डालना चाहें डाल दें।
  • अब उसमें भुनी हुई सूजी डालें और हिलाते रहें। ध्यान रहे कि उस दौरान हलवा में गोलियां ना बनें।
  • थोड़ी देर बाद जब पानी सूख जाए तो गैस बंद कर दें।
  • ऊपर से इलायची का पाउडर और सूखा नारियल कद्दूकस करके डाल दें। अच्छी तरह मिक्स करें और थोड़ी देर के लिए ढक दें।

अब हलवा खाने के लिए तैयार है।

X
India Union Budget 2018, India budget unknown facts, आम बजट से जुड़ी जानकारी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..