पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • बोकारो में एएनएम ट्रेनिंग सेंटर शुरू नहीं

बोकारो में एएनएम ट्रेनिंग सेंटर शुरू नहीं

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बोकारोमें छह वर्ष के बाद भी एएनएम, नर्स ट्रेनिंग की पढ़ाई का प्रारंभ नहीं होना एक बहुत बड़ा मुद्दा है। अगर जनप्रतिनिधियों ने इस दिशा में ध्यान दिया होता तो हर साल यहां से डेढ़ सौ नर्स और एएनएम प्रशिक्षित होकर निकलतीं। इसके बाद इन्हें रोजगार भी उपलब्ध हो जाता। जबकि इस ट्रेनिंग सेंटर को चालू करने के लिए कई बार आश्वासन मिल चुका है। हर बार कितने ही जनप्रतिनिधि आए पर सभी ने आश्वासन दिया पर आज तक यह प्रारंभ नहीं हो सका है। ट्रेनिंग सेंटर का निर्माण होने के बाद दो स्वास्थ्य मंत्री आए और शीघ्र ही बोकारो में एएनएम नर्स ट्रेनिंग की पढ़ाई प्रारंभ करने के लिए कहा। पर छह वर्ष बाद भी यहां एएनएम का प्रशिक्षण प्रारंभ नहीं हो सका।

डेढ़ सौ एएनएम को मिलता प्रशिक्षण

इसएएनएम नर्स ट्रेनिंग सेंटर में प्रत्येक वर्ष 50 नर्स ट्रेनिंग लेंती जिससे तीन सत्र में लगभग डेढ़ सौ एएनएम ट्रेनिंग प्राप्त करतीं। यहां ट्रेनिंग लेने वाली एएनएम के रहने लिए हॉस्टल का भी निर्माण किया गया था।

युवतियों को होता लाभ

एएनएमकी ट्रेनिंग चालू होने पर यहां की युवतियों को धनबाद जाने की आवश्यकता नहीं होती। वे प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद यहीं के सदर अस्पताल में एक साल का प्रशिक्षण लेंती। इसी को ध्यान में रख सदर अस्पताल बनाया गया था। एएनएम नर्स ट्रेनिंग सेंटर के पांच वर्षों बाद बना सदर अस्पताल चालू हो गया पर ट्रेनिंग सेंटर में प्रशिक्षण शुरू नहीं हा़े सका।

जिले का राजस्व जा रहा अन्य जिले में

जिलाबने 20 वर्ष हो गया। पर आज तक यहां एक भी ट्रेनिंग सेंटर खुला ही नहीं। छह वर्ष पूर्व यहां की युवतियों की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए इस ट्रेनिंग सेंटर का निर्माण हुआ। ताकि यहां की छात्राओं को जिले में ही नर्स ट्रेनिंग का प्रशिक्षण प्राप्त हो सके। पर इस प्रशिक्षण केंद्र के चालू नहीं होने से यहां का राजस्व भी धनबाद को ही मिल रहा है। यहां के जनप्रतिनिधि बोकारो के प्रति कितने संजीदा है, इसका हिसाब चुनाव में यहां की जनता उनसे मांगेगी।

नवनिर्मित भवन यूं ही पड़ा है बेकार।