• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • अगर इच्छाशक्ति हो, तो कार्यालय का हर काम हिंदी में संभव है : कार्मिक निदेशक

अगर इच्छाशक्ति हो, तो कार्यालय का हर काम हिंदी में संभव है : कार्मिक निदेशक

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
धनबाद | बीसीसीएलकी कॉरपोरेट स्तरीय राजभाषा कार्यान्वयन समिति की तिमाही बैठक सोमवार को निदेशक (कार्मिक) बीके पंडा की अध्यक्षता में कोयला नगर में हुई। बैठक में सभी क्षेत्रों के क्षेत्रीय कार्मिक प्रबंधक, मुख्यालय के सभी विभागों के विभागाध्यक्ष और हिंदी कैडर कर्मी उपस्थित थे। बैठक में डीपी ने कहा कि हम सभी को अनिवार्य तौर पर अपना संपूर्ण कार्यालयीन कार्य हिंदी में ही करना है। इच्छाशक्ति और जज्बे से यह बड़ी आसानी से किया जा सकता है। हमें अपनी प्राथमिकताओं में हिंदी में काम करना शामिल करना होगा, तभी हम सफल हो सकते हैं। बैठक में हिंदी पत्राचार की स्थिति की समीक्षा की गई। कर्मचारी स्थापना विभाग और जनसंपर्क विभाग का प्रदर्शन श्रेष्ठ रहा। भू-संपदा विभाग ने भी अच्छा काम किया। मुख्यालय के अलावा पश्चिमी झरिया, पुटकी बलिहारी और लोदना का हिंदी पत्राचार सर्वाधिक रहा। बैठक में सोलोमन कुदादा, महाप्रबंधक (राजभाषा) और संचालन दिलीप कुमार सिंह, सहायक प्रबंधक (राजभाषा) उदयवीर सिंह, सहायक प्रबंधक (राजभाषा), चिकित्सा सेवा प्रमुख डॉ बीके पुरोहित, जीएम (कार्मिक) एके सिंह, डीजीएम (जनसंपर्क) आरआर प्रसाद, डीजीएम (कर्मचारी स्थापना) बी सिंह, डीजीएम (अधिकारी स्थापना) यूपी नारायण, अमित भूषण आदि उपस्थित थे

खबरें और भी हैं...