पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जेट ने डिनोबिली स्कूल पर लगाया जुर्माना

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक


झारखंड शिक्षा न्यायाधिकरण (जेट) ने डिनोबिली समूह के चार स्कूलों पर जुर्माना लगाया है। जुर्माना सुनवाई में समय पर नहीं पहुंचे के कारण लगाया गया है। जेट ने इन स्कूलों को एक सप्ताह के भीतर 2000 रुपए झारखंड लीगल सर्विसेस ऑथोरिटी के पक्ष में जमा करने का निर्देश दिया है।

इसके साथ ही 20 मार्च को होने वाली अगली सुनवाई में जुर्माना जमा करने संबंधित रसीद के साथ अपना पक्ष रखने को कहा गया है। जेट ने स्कूल प्रबंधन के एलपीए पर हाईकोर्ट के डबल बेंच ने सुनवाई करते हुए केस को जेट के समक्ष रिकॉल कर दिया है।

डिनोबिली समूह के जिन स्कूलों पर जुर्माना हुआ है उनमें डिनोबिली (सीएमआरआई), डिनोबिली (एफआरआई), डिनोबिली, मैथन और डिनोबिली, मुगमा शामिल हंै।

क्या है मामला
डिनोबिली स्कूल प्रबंधन की ओर से सत्र 2009-10 में 49 प्रतिशत फीस बढ़ाए जाने के विरोध में झारखंड अभिभावक संघ ने जेट के समक्ष अपील की थी। जेट ने स्कूल प्रबंधन को मात्र 15 प्रतिशत फीस वृद्धि की छूट देते हुए अगले आदेश तक अन्य किसी तरह का फीस नहीं बढ़ाने का आदेश जारी किया था।

बाद में जेट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद फीस वृद्धि पर रोक लगाते हुए बढ़ा कर लिए गए फीस को सत्र 2010-11 तक समायोजित करने का निर्देश दिया था। फैसले के विरोध में स्कूल प्रबंधन ने हाईकोर्ट में अपील की थी। सिंगल बेंच में मामला खारिज हो गया। सिंगल बेंच के फैसले के खिलाफ प्रबंधन ने डबल बेंच में एलपीए पिटिशन दायर किया था।
अभिभावकों ने रखा अपना पक्ष

जेट में सुनवाई के दौरान अभिभावकों ने अपना पक्ष रखते हुए स्कूल में एक दूसरे संस्था बिज मंत्रा की ओर से चलाए जा रहे कक्षा का भी मामला उठाया। वहीं, डिनोबिली ग्रुप के सभी स्कूलों के साथ संबंधित पब्लिक सेक्टर की कंपनियों के एग्रिमेंट को भी दिखाया गया। जेट ने इन दोनों ही संबंध में अभिभावकों को एक सप्ताह में अपना पक्ष रखने का निर्देश दिया है।