पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Plan To Set Up Factory At Sindri Eclipse

सिंदरी में कारखाना लगाने की योजना पर लगा ग्रहण

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

सिंदरी .सिंदरी खाद कारखाना के पुनरुद्धार को लेकर बुधवार को नई दिल्ली में हुई बीआईएफआर की बैठक बेनतीजा रही। आठ अप्रैल को सुनवाई की अगली तिथि मुकर्रर की गई। सेल सिंदरी प्रोजेक्ट्स लिमिटेड के तहत सिंदरी में स्टील, उर्वरक तथा पावर प्लांट लगाने की योजना है।

आज की बैठक में किसी तरह का फैसला नहीं होने से प्लांट लगाने की योजना लटक गई है। सिंदरी वासियों को बुधवार की बैठक से काफी उम्मीद थी। लोग यह मानकर कर चल रहे ते कि बैठक कोई ठोस नतीजा निकलेगा।

क्या है परेशानी
सिंदरी खाद कारखाना जब तक बीआईएफआर से बाहर नहीं निकलता है, तब तक इसके पुनरुद्धार का रास्ता साफ नहीं होगा। बीआईएफआर से बाहर निकलने के बाद ही सेल आगे की प्रक्रिया शुरू कर पाएगी।

सुनवाई के दौरान सिंदरी की तरफ से मौजूद सेवा सिंह और शैलेन्द्र द्विवेदी ने बताया कि उर्वरक मंत्रालय अपनी ओर से अन्य मंत्रालयों को नोटिस प्रेषित करेगा। इसके बाद रिपोर्ट कैबिनेट में भेजी जाएगी और कैबिनेट की मंजूरी के बाद बीआईएफआर में इसे प्रस्तुत की जाएगी।

35000 करोड़ के निवेश की योजना
सिंदरी में सेल द्वारा 35000 करोड़ की लागत से स्टील प्लांट, पावर तथा उर्वरक प्लांट बनाना है। सेल के अधिकारियों ने इसको लेकर कई बार सिंदरी का दौरा भी किया है। उर्वरक मंत्रालय की एक उच्चस्तरीय टीम ने भी स्थल निरीक्षण कर कारखाना की आधारभूत संरचनाओं का जायजा लिया था।

सेल की योजना की राह में बीआईएफआर रोड़ा अटका रहा है। बीआईएफआर से बाहर निकले बिना सिंदरी बंद कारखाना के पुनरुद्धार का रास्ता साफ नहीं हो सकता है।

सुनवाई में इन्होंने रखा अपना पक्ष
बीआईएफआर के चेयरमैन बीएस मीणा तथा जेपी दुआ की बेंच में सुनवाई के दौरान सेल के एडवाइजर पीके बजाज, जीएम केआर कृष्णा, एएस मिश्रा, पुनीत अग्रवाल, आशीष रस्तोगी, उर्वरक मंत्रालय के संयुक्त सचिव सह सीएमडी सतीश चंद्र, नीरज सिंघल,

पीसीएल कल्याणी, एफसीआईएल के संतराम, सीएन थांगुरी, केएल राव, एसबीआई के डीएन माथुर उपस्थित थे। वहीं, ऑफिसर्स एसोसिएशन की ओर से सेवा सिंह, शैलेन्द्र द्विवेदी, सुंदर राजू, कांजी श्रीनिवासन (रामागुंडम), केएन त्रिपाठी (गोरखपुर) एलएल होदा, एपी गुच्छैत (तालचर) तथा सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता ललन चौधरी मौजूद थे।