पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • व्यापारियों ने वात्सल्य धाम में अनाथ बच्चों की सहायता के लिए दी राशि

व्यापारियों ने वात्सल्य धाम में अनाथ बच्चों की सहायता के लिए दी राशि

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भंडारा में जुटेंगे मंत्री समेत कई नेता

शिक्षित बन रहे बच्चे : साध्वी ऋतंभरा

एग्रिको ट्रांसपोर्ट मैदान में आयोजित पांच दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा का आज होगा समापन

सिटीरिपोर्टर | जमशेदपुर

साध्वीऋतंभरा ने कहा कि देश की वर्तमान शिक्षा नीति बच्चों को केवल साक्षर बना रही है, शिक्षित नहीं। इसका असर यह हो रहा है कि वर्तमान दौर में बच्चों के अंदर सद्गुण संस्कार खत्म हो रहे हैं। शिक्षा नीति की वजह से स्कूलों में बच्चे संस्कारवान नहीं बन रहे हैं। समाज की यही सबसे बड़ी विडंबना है। एग्रिको मैदान में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के चौथे दिन शुक्रवार को साध्वीजी ने श्रीकृष्ण की माखन चोरी लीला, गोवर्धन पूजा, बलराम विवाह रुक्मिणी विवाह की कथा सुनाईं। उन्होंने भक्तों को कृष्ण भक्ति नारी प्रेम के मर्म को सरलता से बताया। उन्होंने कहा कि आज के बच्चों के पास केवल मित्र मोबाइल का सानिध्य है, जबकि उन्हें गुरु माता-पिता का प्यार मिलना चाहिए। साध्वीजी ने कहा कि विद्यार्थी वही है, जो केवल विद्या धारण करे, लेकिन यह धारणा बदल गई है और परिणाम है कि समाज में विकृति रही है। उन्होंने कहा कि धर्म, समाज और सरकार द्वारा बनाए गए नियमों का पालन सबको करना चाहिए। इस दौरान उन्होंने उपस्थित श्रद्धालुअों से कई संकल्प भी कराए।

माखनचोरी लीला सुन भाव विभोर हुए श्रोता

साध्वीजीने कृष्ण के बालरूप के कई प्रसंगों का जिक्र करते हुए बताया कि जब कृष्ण छोटे थे, तो बाल गोपालों के साथ माखन चोरी करते थे। माखन-मिश्री भगवान कृष्ण को बहुत भाता था। जब आसपास की महिलाएं कृष्ण की शिकायत लेकर आतीं तो बड़ी चतुराई से कृष्ण उन्हें जवाब देते थे। कृष्ण के बालपन पर आने वाली महिलाएं मुस्कराती हुई अपने घरों को चल देती थीं। उनकी हर लीला में रहस्य छिपा है।

माता-पिताका ऋण पुत्र कभी नहीं चुका सकता

कृष्ण-रुक्मिणीविवाह का नाट्य रुपांतरण को भव्यता प्रदान किया गया, जिसमें श्रीकृष्ण-रुक्मिणी का स्वयंवर मंच पर प्रस्तुत किया गया। साध्वीजी ने कहा कि पुत्र अपने माता-पिता का ऋण कभी चुका नहीं सकते। स्वयं श्रीकृष्ण ने अपने माता-पिता से यही कहा है।

इनभजनों पर झूमे श्रोता : छोटीगाय छोटे ग्वाल..., मैया तेरे द्वार खड़ा बाला जोगी दर्शन करा दे अपने बालक की...।

बैठक में शामिल सीएम रघुवर दास, साध्वी अन्य।

एग्रिको ट्रांसपोर्ट मैदान में श्रीकृष्ण-रुक्मिणी के विवाह समारोह में प|ी के साथ शामिल सीएम रघुवर दास (बाएं) उपस्थित श्रद्धालु।

जमशेदपुर| सीएमरघुवर दास ने शुक्रवार को सिदगोड़ा स्थित सूर्य मंदिर परिसर में साध्वी ऋतंभरा की संस्था के सहयोग के लिए शहर के व्यापारियों के साथ बैठक की। इस दौरान सीएम ने साध्वी ऋतंभरा द्वारा चलाए जा रहे वात्सल्य धाम की प्रशंसा की। उन्होंने नगर के व्यापारियों से ऐसे बच्चों की सेवा करने में आगे बढ़ कर सहयोग करने की अपील की। बैठक में साध्वी ऋतंभरा, सिंहभूम चैंबर के अध्यक्ष सुरेश सोंथालिया, सूर्य मंदिर कमेटी के पवन अग्रवाल, भाजपा नेता दिनेश कुमार, रामबाबू तिवारी, चंद्रशेखर मिश्रा, भरत वसानी, अशोक भालोटिया आदि उपस्थित थे। नगर के ठेकेदार, बिल्डर, समाजसेवी व्यापारियों ने साध्वी ऋतंभरा के वात्सल्य धाम के लिए सहयोग राशि प्रदान दी। इस दौरान पांच से 51 हजार रुपए तक लोगों ने सहयोग दिया। बिल्डर अनूप चटर्जी, शिबू बर्मन, दिनेश विग, उद्यमी कृष्णा भालोटिया, राजन सिंह, अनिल चौरसिया, शिवशंकर सिंह, गोपाल सिंह समेत दर्जनों लोगों ने सहयोग राशि प्रदान की।

मंत्रीरंधीर सिंह वात्सल्य धाम के लिए देंगे एक माह का वेतन

झारखंडके कृषि मंत्री रंधीर सिंह ने वात्सल्य धाम में एक माह का वेतन देने की घोषणा की। मंत्री ने वात्सल्य धाम में बच्चों की सेवा विकास कार्य की प्रशंसा की। मंत्री की घोषणा के वक्त सीएम रघुवर दास समेत नगर के कई व्यापारी उपस्थित थे।

एग्रिको स्थित ट्रांसपोर्ट मैदान में आयोजित पांच दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा का समापन शनिवार को होगा। यहां अंतिम दिन दोपहर तीन से शाम 6 बजे तक श्रीमद् भागवत कथा आयोजित होगी। कथा समापन के बाद आयोजित होने वाले भंडारा में राज्य के कई मंत्री, विधायक भाजपा के प्रदेश स्तरीय नेताआें के शामिल होने की संभावना है। साध्वी ऋतंभरा भागवत कथा के समापन के बाद शाम सात बजे से ट्रांसपोर्ट मैदान में विशाल भंडारा का आयोजन करेंगी। इसमें 10 से 15 हजार लोगों के प्रसाद खाने की व्यवस्था की गई है। हालांकि शुक्रवार को ही कई नेताओं का शहर आने का सिलसिला शुरू हो गया है। प्रदेश भाजपा के संगठन मंत्री राजेंद्र सिंह कृषि मंत्री रंधीर सिंह शुक्रवार को ही शहर पहुंच गए। श्रीमद् भागवत कथा के समापन के बाद भंडारा के लिए आयोजन समिति की ओर से मंत्री, सांसद, विधायक, भाजपा के प्रदेश पदाधिकारियों समेत प्रशासनिक पुलिस अधिकारियों को आमंत्रित किया गया है।

श्रद्धालुअाें से लिया संकल्प

{बेटीकी हत्या और बेटा-बेटी में फर्क नहीं करेंगे।

{गो-माता की रक्षा करेंगे।

{महिलाओं का सम्मान करेंगे।

{बेटों को अच्छा संस्कार देंगे, दहेज नहीं लेंगे।

{दूसरे के पैसों पर नहीं इतराएंगे।

साध्वीजीकी अमृतवाणी

{किसेकब क्या भोगना है, यह सब निश्चित है।

{ज्ञान की शुरुआत अज्ञानता से होती है।

{प्रतिमा प्रभु में ध्यान केंद्रित करने में सहायक होती है।

{हमें सभी संस्कार विधिपूर्वक संपन्न कराने चाहिए।

सीएम रघुवर दास शुक्रवार शाम 4.30 बजे शहर पहुंचे। वे रांची से सड़क मार्ग से होते हुए सीधे एग्रिको ट्रांसपोर्टर मैदान में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के चौथे दिन के कार्यक्रम में शामिल हुए। यहां सीएम ने प|ी रुक्मणी देवी संग साध्वी ऋतंभरा के प्रवचनों को सुना। भागवत कथा सुनने के बाद सीएम ने मैदान में लगाए गए विभिन्न स्टॉलों का भ्रमण किया। मैदान में वात्सल्य धाम शहर के अन्य संस्थानों की ओर से स्टॉल लगाए गए हैं। नि:शुल्क दवा वितरण से लेकर निरोग रहने के उपायों से संबंधित पुस्तकों के बिक्री केंद्र का भी सीएम ने जायजा लिया। सीएम मैदान में स्टॉल भ्रमण के बाद व्यवस्था से संतुष्ट नजर आए। बाद में सीएम दोबारा मंच पर विराजमान हुए।

समापनसमारोह में होंगे मुख्य यजमान : सीएमरघुवर दास शनिवार को पांच दिवसीय श्रीमद् भावगत कथा के अंतिम दिन मुख्य यजमान हैं। वे प|ी संग ट्रांसपोर्ट मैदान में भावगत कथा के अंतिम दिन बैठेंगे। मालूम हो कि 24 फरवरी को एग्रिको के ट्रांसपोर्ट मैदान में श्रीमद भावगत कथा का शुभारंभ हुआ था। इसमें मुख्यमंत्री रघुवर दास मुख्य यजमान थे।